ऐतबार ना कीजिये

ूल भी दे जाते हैं ज़ख़्म गहरे कभी-कभी,
हर फूल पर यूँ ऐतबार ना कीजिये..

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -