आखिर क्या होता है ईद-उल-फित्र का मतलब? आप भी जानिए

रमज़ान अब बस खत्म होने को ही है और इसके पहले ही सभी लोग की तैयारियों में लग जाते है. ईद का त्यौहार मुस्लिम समुदाय का सबसे बड़ा त्यौहार माना जाता है. इसे ईद-उल-फित्र कहा जाता है. वैसे तो सभी लोग ईद-उल-फित्र कहते है लेकिन क्या आपको इसका असल मतलब पता है? अगर नहीं पता तो चलिए हम आपको बताते है. ईद का मतलब होता है बार-बार लौटकर आना और फित्र का मतलब है नाश्ता. दरअसल ईद-उल-फित्र खुशियों की दावत होती है. ये त्यौहार मुस्लिम धर्म के लोगों के खुशियों का भंडार लेकर आता है.

असल मायने में अगर ईद-उल-फित्र का मतलब देखा जाए तो वो होता है खुशियों की दावत कर बार-बार लौटकर आना. दरअसल रमज़ान के महीने में सभी लोग रोज़ा रखकर भूख की तड़प महसूस करते है और अपनी सभी इच्छाओं पर भी काबू रखते है. इतने लम्बे समय तक रोज़ा रखने के बाद ईद-उल-फित्र आती है और वो दावत की खुशिया लेकर आती है. ईद-उल-फित्र पर सभी लोग अच्छे-अच्छे पकवान बनाकर कहते है और परिवार के साथ मिलकर खुशियां मनाते है.

सबसे पहले सुबह नमाज़ पढ़कर दिन की शुरुआत की जाती है. इसके बाद सभी लोग अपने रिश्तेदार और सम्बन्धी लोगों को ईद मुबारकबाद देते है. फिर घर में सभी मिलने-जुलने वाले और रिश्तेदारों का आना-जाना चालू हो जाता है. सूत्रों की माने तो भारत में ईद-उल-फित्र 15 जून और 16 जून को मनाया जाएगा.

चाँद के दीदार के बाद इस खास तरीके से दे ईद की बधाई

अलविदा जुमा शायरियां

ईद की मुबारकबाद देते हुए शाहरुख़ ने जारी किया 'जीरो' का टीज़र

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -