अनिल देशमुख के खिलाफ ED ने दायर की 7000 पन्नों की चार्जशीट, इन लोगों के नाम आए सामने

मुंबई: राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (NCP) के नेता तथा महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख भ्रष्टाचार के केस में निरंतर फँसते जा रहे हैं। उनके खिलाफ तहकीकात कर रहे ED ने बुधवार (29 दिसंबर 2021) को मनी लॉन्ड्रिंग तथा भ्रष्टाचार के केस में सप्लीमेंट्री चार्जशीट विशेष PMLA अदालत में दायर कर दी है। ये चार्जशीट 7000 से ज्यादा पन्नों की है।

वही रिपोर्ट के अनुसार, चार्जशीट में आरोप है कि देशमुख एवं उनकी फैमिली ने 50 करोड़ रुपए की मनी लॉन्ड्रिंग की है। ED ने देशमुख के अतिरिक्त उनके दो बेटों ऋषिकेश तथा सलिल देशमुख और देशमुख के सीए भाविक पंजनानी को भी इसमें आरोपित के रूप में सम्मिलित किया है। हालाँकि, संदिग्ध लेनदेन के मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने अभी तक सलिल तथा ऋषिकेश के बयानों को दर्ज नहीं किया है। इसके साथ ही प्रवर्तन निदेशालय ने आरोप पत्र में दावा किया है कि देशमुख परिवार 27 फर्जी कंपनियों को संचालित करता था।

प्रवर्तन निदेशालय ने चार्जशीट में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह तथा महाराष्ट्र के पूर्व चीफ सेक्रेटरी सीताराम कुंटे के भी बयानों को दर्ज किया है। इस केस की खोजबीन में प्रवर्तन निदेशालय को पता चला है कि देशमुख तथा उनके परिवार ने कई सारे सदिग्ध वित्तीय लेनदिन किए हैं, जिनके उत्तर अभी तक नहीं प्राप्त हो सके हैं। चार्जशीट में ED ने महाराष्ट्र के परिवहन मंत्री अनिल परब के किरदार पर भी प्रश्न खड़ा किया है। हालाँकि, इसमें बहुत कुछ तो प्रवर्तन निदेशालय ने नहीं बोला है, किन्तु शक व्यक्त किया है कि 12 IPS अफसरों को अनिल देशमुख की सिफारिश के पश्चात् मनचाही पोस्टिंग मिली है। 

मुसलामानों के बाद अब मोदी सरकार का नया टार्गेट ईसाई .., कांग्रेस नेता चिदंबरम का आरोप

NCP नेता एकनाथ खडसे की बेटी की कार पर बदमाशों ने किया अटैक, जांच में जुटी पुलिस

सचिन पायलट ने बनाया 51 मीटर का साफा बाँधने का अनोखा रिकॉर्ड, कभी लिया था साफा न पहनने का प्रण

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -