दिल लगाने वाला जमाना नही

दिल लगाने वाला जमाना नही

पने दिल का जख्म किसी को दिखाना नही
अब इंसान से दिल लगाने वाला जमाना नही
.
सभी लोगों के दिल में छुपे रहते बहुत से राज
दिल में छुपे राज को किसी को बताना नही
दिल हलकान हो जाता है इन्सानी फितरत से
किसी के दुखी दिल को कभी सताना नही
.
लोग दूसरों की जीवनधारा को भी मोड़ देते हैं
अपने स्वार्थ के लिए किसी को बहकाना नही
.
कुछ लोग धन के लालच में आकर करते सेवा
हृदय हो जाये निर्मल,किसी को फुसलाना नही
.
लोग दूसरों का दुख सुन उड़ाने लगते खिल्ली
स्वयं दुख से उबरें,पर गैर को दुख सुनाना नही
.
संगत का भी प्रभाव पड़ता है सबके जीवन पर
किसी अधम को अपने पास कभी बुलाना नही
.
सभी निराश लोगों में करें आशा का नव संचार
किसी के निराश जिंदगी पर भी मुस्कुराना नही
.
हर पल जिंदगी की एक कहानी बनती रहती है
जिंदगी बीती पर खुद का कोई अफसाना नही
.
मुहब्बत के रस से नफरत को डुबाओ 'प्रकाश'
नफरत भरे जहाँ से मुहब्बत के बिना जाना नही