Video : ट्राय करे ये हेयर कलर शेड्स और दिखे स्टाइलिश

हेयर कलरिंग आजकल केवल लोगों की जरूरत ही नहीं बल्कि एक फैशन भी बन चुका है क्योंकि यह बालों को ही नई रंगत नहीं देता बल्कि रूप में भी अच्छा खासा बदलाव लाता है. लेकिन यह फैशन अपनाना इतना आसान नहीं क्योंकि इसके गलत इस्तेमाल से कई नुकसान भी हो सकते है. इसलिए हेयर कलर के इस्तेमाल से पहले उसकी पूरी सही जानकारी का होना भी बहुत जरूरी है. आइये हम आपको बताते हैं-

हेयर कलर के इस्तेमाल से पहले जाने हेयर कलर के प्रकार.

- टैम्परेरी हेयर कलर

यह किसी खास अवसर के लिए होता है यानि यह बहुत कम समय तक के लिए बालों में टिका रहता है. एक से दो बार बाल धुलने में बालों से रंग साफ हो जाता है.

-सेमीपरमानेंट कलर

सेमी परमानेंट कलर वो होते है जिसमे मॉलिक्यूल्स का इस्तेमाल किया जाता है. इसके अलावा अगर हेयर कलर में कलर करने के बाद कुछ ही मिनटों में धोने का निर्देश दिया हो तो समझ लीजिए कि वो सेमी परमानेंट हेयर कलर है. यह बालों में गहराई से नहीं पहुंच पाता है. इसलिए इसका असर बालों में छः सप्ताह तक ही रहता है. फिर अपने स्वाभाविक रंग में आ जाते है.

-डमी परमानेंट हेयर कलर

लंबे समय तक के लिए बालों में कलर टिकाए रहने के लिए डमी परमानेंट हेयर कलर का इस्तेमाल किया जाता है. इसका असर बालों में दो से तीन महीने तक रहता है. इसमे अमोनिया और पैराऑक्साइड का इस्तेमाल नहीं होता है यह डमी परमानेंट हेयर कलर की सबसे अच्छी पहचान होती है. फैशन ट्रेंड में डीप कॉफी ब्राउन, मीडियम एश ब्राउन, रेड वॉयलेट, डिशवाटर ब्लांडी, कूल एश, ब्लू ब्लैक, सोफ्ट एंड पिपर, वाइन, बरगेंडी, प्लैटिनम हेयर कलर ज्यादा चल रहे है.

सफ़ेद बालों को काला करते हैं आलू के छिलके

आपके ड्राइंग रूम को यूनीक लुक देते हैं ये लेटेस्ट डिजाइन के सोफा सेट

गमले में आसानी से लगाएं फलों के पेड़