लेफ्ट विंग एक्सट्रेमिसम के खिलाफ एमएचए की सफलता का ब्यौरा

देश में एलडब्ल्यूई (लेफ्ट विंग एक्सट्रेमिसम) के खिलाफ एमएचए ने कमर कास ली है और इस मुहीम में उसने अपने साथ  केंद्रीय एजेंसियों ईडी, डीआरआई, राज्य खुफिया और सीआईडी, सीबीडीटी, एनआईए, सीबीआई को शामिल किया है. केंद्रीय एजेंसियां ​​लगातार जांच कर रही है. और इस जांच में पता चला है कि बिहार झारखंड स्पेशल एरिया कमेटी (बीजेएसएसी) के सदस्य प्रद्युमन शर्मा ने निजी चिकित्सा कॉलेज में अपनी भतीजी के प्रवेश (2017) के लिए फीस के रूप में 22 लाख रुपये का भुगतान किया था. बीजेएसएसी के एक अन्य सदस्य संदीप यादव का नाम भी 15 लाख रुपए का आदान-प्रदान करने वालो में शामिल पाया गया है. इस तरह की कई कहानियां एलडब्ल्यूई के असली चेहरे को सामने ला रही है. संदीप यादव बे बच्चे भी प्रतिष्ठित निजी संस्थानो में पड़ रहे है. वरिष्ठ नेता अरविंद यादव ने भी अपने को निजी इंजीनियरिंग कॉलेज में अध्ययन करवाने हेतु 12 लाख भरे है. 


कार्यवाई में अब तक -
• संदीप यादव, विजय यादव, प्रद्युमन शर्मा, विनय यादव और सीपीआई  के मुसाफिर साहनी के खिलाफ मनी लॉंडरिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा 04 मामलों की जांच जारी है. 

• संदीप यादव,विजय यादव और प्रद्युमन शर्मा की कुल सम्पति का मूल्याङ्कन ED ने 1.5 करोड़ रूपये किया है. 

• गैरकानूनी गतिविधियों (रोकथाम) अधिनियम की धारा 25 के तहत बिहार और झारखंड में लगभग 32 एकड़ जमीन, कई इमारतों, 02 बसें, 11 कारें / जीप, 02 ट्रैक्टर और 01 जेसीबी सहित नकद और संपत्तियों में 1.45 करोड़ रुपये जब्त किये गए है. 

• लगभग 1 करोड़ रुपये की नकदी भी जब्त की गई है. 

गौरतलब है कि देश में एलडब्ल्यूई (लेफ्ट विंग एक्सट्रेमिसम) की संदिग्ध गतिविधियों के नेटवर्क और  आंदोलन को कुछ रसूखदार नेताओं द्वारा ही वित्त पोषित किया जा रहा है. इन गतिविधियों में सरकारी ठेकेदारों और योजनाओं, खनन ठेकेदारों, ट्रांसपोर्टरों और छोटे और मध्यम उद्योगों के मालिकों , निजी ठेकेदारों से वसूली का पैसा उपयोग किया जाता है. इसी तरह गैर क़ानूनी तरह से अवैध क्षेत्रों में खनन, 'तेंदु पट्टा' का संग्रह जैसे अवैध धंधो से भी धन जुटाया जा रहा है. अब इन्ही के खिलाफ एमएचए ने केंद्रीय एजेंसियों ईडी, डीआरआई, राज्य खुफिया और सीआईडी, सीबीडीटी, एनआईए, सीबीआई के साथ मिलकर जांच को आगे बढ़ाने का कदम उठाया है. एमएचए और अन्य सरकारी एजेंसियों द्वारा शुरू की गई यह मुहीम एलडब्ल्यूई और उसे फंड देने वालो के खिलाफ फ़िलहाल जारी है जिसमे कई खुलासे होने बाकि है.  

एलडब्ल्यूई पर लगाम कसने के जुटी एमएचए ने उठाये सख्त कदम

अब जज के खिलाफ वकीलों की हड़ताल

आयकर विभाग के छापे से केटरिंग वाले कांपे

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -