उत्तराखंड में बादल फटने से हुई तबाही, जानमाल हानि की कोई खबर नहीं

बीते कई दिनों से देशभर में एक के बाद एक बड़ी घटना के बारें में सुनने को मिल रहा है, और हर दिन कोई न कोई इस घटना का शिकार भी हो रहा है, इतना ही नहीं इन घटनाओं ने अब तो विकराल रूप भी लेना शुरू कर दिया है, जिसकी वजह से आज हर कोई परेशान है, वहीँ आज हम आपके लिए ऐसी ही घटना लेकर आए है जिसे सुनने के बाद आप भी हैरान हो जाएंगे... 

उत्तराखंड में एक बार फिर बादल फटने का मामला सामने आया है. बादल फटने के कारण से भारी तबाही भी हुई है. यह पूरी घटना देवप्रयाग की है. जहां पर बादल फटने के उपरान्त जोरदार वर्षा हुई है. इतना ही नहीं बादल फटने के कारण से ITI की बिल्डिंग भी पूरी तरह से बर्बाद हो गई है. इस इलाके में स्थित कई दुकानें भी तबाह गई हैं. मिली जानकारी के अनुसार बादल फटने की वजह से मूसलाधार वर्षा होती है, इस वजह से तबाही का यह मंजर देखने को मिल रहा है.  

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने बादल फटने की इस दुर्घटना को लेकर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से वार्तालाप की है . उन्होंने नुकसान का जायजा लिया और राज्य को यथासंभव सहायता का विश्वास दिया है. 

हम बता दें कि सीएम तीरथ सिंह रावत ने बोला है कि आदरणीय गृहमंत्री ने फोन कर राज्य के देवप्रयाग इलाके में आज देर शाम बादल फटने से हुई हानि की सूचना ली है, मैंने उन्हें दोनों घटनास्थलों की वस्तुस्थिति से अवगत कराया. उन्होंने NDRF को निर्देशित करने के साथ ही राज्य को केंद्र गवर्नमेंट  की ओर से हरसंभव मदद देने का  आश्वासन दिया. मैं माननीय गृहमंत्री जी का हृदय से आभार व्यक्त करता हूं.

जिसके पूर्व 3 मई को उत्तराखंड के टिहरी, उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग जिले में बादल का मामला सामने आया था. रुद्रप्रयाग व उत्तरकाशी जिलों में बादल फटने की खबर का तत्काल संज्ञान लेते हुए संबंधित जिलाधिकारियों से फ़ोन पर सारी सूचना हासिल की थी और उन्हें प्रभावितों को तुरंत राहत और मदद राशि देने के निर्देश दिया.

भारती सिंह इस कारण नहीं कर रही है बच्चा प्लान, सुनाया अपना दर्द

छठी कक्षा तक पढ़ाई करने वाली उमा भारती ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में बीजेपी को दिलाई थी व्यापक जीत

चारा घोटाला: जमानत मिलते ही 'स्वस्थ' हुए लालू ! दिल्ली AIIMS से बेटी मीसा के घर शिफ्ट हुए

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -