कोरोना से लड़ने के लिए बच्चों को मिला नया हथियार, 6 से 12 आयुवर्ग के बच्चों को लगेगी Covaxin

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए बच्चों को नया हथियार मिल गया है। खबर है कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने 6-12 आयुवर्ग के लिए कोवैक्सीन (Covaxin) की आपातकालीन इस्तेमाल की इजाजत दे दी है। शुक्रवार को ही सब्जेक्ट एक्सपर्ट कमेटी ने इस आयु के बच्चों के लिए कोवैक्सीन की सिफारिश की थी। बता दें कि हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सीन विकसित की है।

वयस्कों के टीकाकरण में कोविशील्ड (Covishield) के अलावा कोवैक्सीन का भी उपयोग किया गया था। फिलहाल, 15 से 18 साल के बच्चों को यह टीका दिया जा रहा है। गुरुवार को हुई बैठक में SEC ने भारत बायोटेक के आवेदन पर विचार किया था। हालांकि, शुक्रवार को कंपनी की ओर से बताए गए डेटा के बाद विशेषज्ञों ने अतिरिक्त जानकारी मांगी थी। बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच एक बार फिर बच्चों के टीकाकरण के प्रति ध्यान बढ़ा है।

गुरुवार ने SEC ने 6 से 12 वर्ष के बच्चों के लिए बायोलॉजिकल ई की कॉर्बिवैक्स के उपयोग की सिफारिश की थी। फिलहाल, कॉर्बिवैक्स 12 से 14 वर्षों के बच्चों को दी जा रही है। भारत में 15-18 वर्ष के बच्चों का टीकाकरण जनवरी से शुरू हो गया था। मार्च में इसे 12 साल से ऊपर के बच्चों के लिए भी अनुमति दे दी गई।

रूस-यूक्रेन युद्ध पर भारत की स्थिति स्पष्ट है: विदेश मंत्री जयशंकर

रामनवमी हिंसा की जांच नहीं कराएगी सुप्रीम कोर्ट ! खारिज की याचिका

आज से शुरू हुईं CBSE 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं, यहाँ देखें स्टूडेंट्स के लिए जरुरी गाइडलाइन्स

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -