असम हिंसा के विरोध में 'दरांग बंद' का ऐलान, सरकार ने दिए घटना की जांच के आदेश

गुवाहाटी: असम के दरांग जिले में अतिक्रमण हटाने पहुंची पुलिस और स्थानीय नागरिकों के बीच संघर्ष के बाद हालात तनावपूर्ण हो गए हैं. धौलपुर इलाके के बलुआ घाट इलाके में बड़ी संख्या में सुरक्षाबलों की तैनाती की गई है. दूसरी ओर, गुरुवार को हुई हिंसक झड़प के विरोध में ऑल असम माइनॉरिटीज स्टूडेंट्स यूनियन सहित कई संगठनों ने दरांग जिले में 12 घंटे के बंद का आह्वान किया है.

इलाके में तनाव बना हुआ है. तनावपूर्ण हालात के मद्देनज़र प्रशासन ने इलाके में भारी सुरक्षाबल की तैनाती की है. इस संबंध में एक प्रत्यक्षदर्शी सुकुर अली ने बताया कि मैं वहीं था जब घटना हुई. सुकुर के अनुसार, घटना धोलपुर नंबर एक और धोलपुर नंबर तीन में हुई जहां  कुछ लोगों ने सुरक्षाबलों पर पथराव कर दिया. सुरक्षाबल अतिक्रमण हटाने पहुंचे थे. प्रत्यक्षदर्शी सुकुर के अनुसार, कुछ ग्रामीणों ने भी सुरक्षाबलों पर हमला कर दिया. 

वहीं, घटना के बाद इलाके में तनाव के मद्देनज़र मौके से थोड़ी ही दूरी पर पुलिस ने कैम्प कर दिया है. धोलपुर इलाके में तनाव अभी भी व्याप्त है. इलाके में भारी सुरक्षाबल तैनात किया गया है. जिला प्रशासन ने पुलिस और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CEPF) के अस्थायी कैम्प सेट कराए हैं. वहीं, असम की हिमंत बिस्वा सरमा सरकार ने दरांग जिले में अतिक्रमण विरोधी अभियान के दौरान ढालपुर में हुई फायरिंग की घटना की न्यायिक जांच के आदेश दिए हैं.  

सुष्मिता सेन की 'आर्या' को मिला इंटरनेशनल एमी अवॉर्ड्स 2021 में नॉमिनेशन

पीएम मोदी के अमेरिका दौरे पर कांग्रेस का बेतुका सवाल, पुछा- उन्हें US में एंट्री कैसे मिली ?

बिहार पंचायत चुनाव 2021 के पहले चरण का मतदान आज से होगा शुरू

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -