करंट अफेयर्स :भारत और यूएई के मध्य अक्षय ऊर्जा निगम पर समझौता

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट मंत्रिमंडल और संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के बीच हुए सामान्य ढांचा समझौते (जीएफए) को 13 मई 2016 को लागू कर दिया गया. नई दिल्ली में 11 फरवरी को यूएई के क्राउन प्रिंस की यात्रा के दौरान जीएफए पर हस्ताक्षर किए गए थे|

समझौते के उद्देश्य-
इस जीएफए का उद्देश्य इस फ्रेमवर्क के आधार पर बड़ी परियोजनाओं, निवेश, और व्यावसायिक प्रयासों, शोध एवं विकास में भागीदारी, अक्षय और स्वच्छ ऊर्जा में विकास और ज्ञान की साझेदारी से संबंधित मंचों को पारस्परिक फायदे और पारस्परिक लेन-देन के लिए लागू करना है|
जीएफए का उद्देश्य भारत और यूएई के बीच नवीन और अक्षय ऊर्जा प्रौद्योगिकियों के क्षेत्र में भागीदारी करना है|
जीएफए से निवेश के लिए संभावित अक्षय परियोजनाओं में अवसरों को तलाशना|
अंतरराष्ट्रीय सौर गठबंधन में सहयोग को जारी रखना|
अक्षय ऊर्जा में शोध एवं विकास में भागीदारी के अवसर तलाशना|
ज्ञान साझा करने के लिए तंत्र विकसित करना जिससे दोनों देशों में मानव पूंजी का विकास हो|
निवेश बढ़ाने के लिए एक संयुक्त कोष बनाने के अवसर तलाशना आदि पर काम करने का रास्ता बनाना होगा|

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -