भारतीय अमेरिकी वैज्ञानिक स्प्रिंगर थीसिस अवार्ड से सम्मानित

भारतीय अमेरिकी वैज्ञानिक अर्नब डे ने मई 2016 को प्रतिष्ठित स्प्रिंगर थीसिस पुरस्कार प्राप्त किया, उन्होंने यह पुरस्कार ट्यूमर शमन ए-20 के अध्ययन हेतु ट्रांसजेनिक चूहों विकसित करने के लिए प्राप्त किया.

उनके शोध को न्यूयॉर्क कोलम्बिया यूनिवर्सिटी द्वारा नामांकित किया गया.

इससे पहले उनकी मधुमेह के उपचार हेतु विकसित की गयी परियोजना को युवा अन्वेषक पुरस्कार मिल चुका है. 

उन्होंने अपन पीएचडी शोधकार्य क्रिकेटर सचिन तेंडुलकर एवं अपने शिक्षण संस्थान कोलकाता प्रेसीडेंसी कॉलेज को समर्पित किया. 

स्प्रिंगर थेसेस अवार्ड

यह पुरस्कार अंतरराष्ट्रीय प्रकाशक स्प्रिंगर द्वारा प्रदान किया जाता है. स्प्रिंगर पत्रिकाएं, पुस्तकें एवं पीएचडी शोध कार्यो को प्रकाशित करता है.

स्प्रिंगर
•    यह विश्व के सर्वश्रेष्ठ पीएचडी शोधकार्य को पुस्तक के रूप में प्रकाशित करता है, जिसका शीर्षक होता है – ‘स्प्रिंगर थीसिस:रेकोग्नाईजिंग आउटस्टैंडिंग पीएचडी रिसर्च’.
•    विजेता को 500 यूरो (555 अमेरिकी डॉलर) भी दिए जाते हैं.
•    केवल उन्हीं शोधकार्यो को तरजीह दी जाती है जिन्हें ‘सामान्य पाठकों के लिए मौलिक प्रासंगिकता’ वाला समझा जाता है.
•    शोधकार्यों को यूरोपियन मॉलिक्यूलर बायोलॉजी आर्गेनाईजेशन (ईएमबीओ) रिपोर्ट्स में भी स्थान दिया जा चुका है.

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -