कोरोना के साइड इफ़ेक्ट, इस साल IIT गुवाहाटी में कैंपस प्लेसमेंट में आई 8% की गिरावट

May 14 2021 02:56 PM
कोरोना के साइड इफ़ेक्ट, इस साल IIT गुवाहाटी में कैंपस प्लेसमेंट में आई 8% की गिरावट

नई दिल्ली: कोरोना महामारी के कारण देश में हाहाकार मचा हुआ है. वहीं कोरोना ने भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गुवाहाटी (IIT-G) में कैंपस प्लेसमेंट पर भी नकारात्मक असर डाला है. बता दें कि 2020-21 सीज़न में प्लेसमेंट में कुल मिलाकर 8 फीसद की गिरावट आई है. उल्लेखनीय है कि 2020-21 में कुल 1,200 पंजीकृत स्टूडेंट्स में से 686 छात्र यानी 57.16 फीसद को ही प्लेसमेंट मिला.

जबकि 2019-2020 के लिए संबंधित आंकड़ा 1,060 में से 692 स्टूडेंट्स यानी 65.28 फीसद रहा था. हालांकि, गत वर्ष की तुलना में इस साल MA प्रोग्राम के अधिक छात्रों को प्लेसमेंट मिला है. इन सबके बीच अच्छी बात ये रही कि बी.टेक और बी.डी.एस स्टूडेंट्स का औसत वेतन 21.41 लाख सालाना हो गया है, जो कि गत वर्ष की तुलना में तकरीबन 79,000 रुपये अधिक है. वहीं एमटेक और एम.डी.एस के वेतन में भी अच्छा इजाफा हुआ है. इस साल 2019-20 के प्लेसमेंट सीजन की तुलना में लगभग 1.70 लाख की वृद्धि हुई है.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, आईआईटी -जी सेंटर फॉर करियर डवेलेपमेंट के हेड डॉ अभिषेक कुमार के अनुसार, विश्व में कोरोना की महामारी के कारण उत्पन्न हुए हालात को देखते हुए प्लेसमेंट के आंकड़ों को छात्रों के लिए गिरावट नहीं बल्कि उपलब्धि माना जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि, " वे कोरोना महामारी से पैदा हुए चैलेंजेस का सामना कर सकते हैं और अपना फ्यूचर सुरक्षित व बेहतर कर सकते हैं."

जियो द्वारा अपने ग्राहकों के लिए 2 ऑफर्स की घोषणा के बाद रिलायंस शेयर की कीमतों में आया उछाल

गो एयरलाइंस ने 3,600 करोड़ रुपये के आईपीओ के लिए ड्राफ्ट पेपर्स फाइल किए तैयार

अंतरराष्ट्रीय पर्यटकों के लिए फिर से खुलेगा ग्रीस