+

कश्मीर मुद्दे पर सरकार के खिलाफ कांग्रेस, लोकसभा और राज्यसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

कश्मीर मुद्दे पर सरकार के खिलाफ कांग्रेस, लोकसभा और राज्यसभा में दिया स्थगन प्रस्ताव

नई दिल्ली: जम्‍मू और कश्‍मीर में जारी तनातनी के बीच प्रशासन ने जम्‍मू में सोमवार सुबह 6 बजे से धारा 144 लागू कर दी गई है. साथ ही जम्‍मू के 8 जिलों में CRPF की 40 कंपनियां तैनात की गई हैं. कश्मीर में सुरक्षाबलों की 100 कंपनियां पहले से ही मौजूद हैं. इसके अलावा श्रीनगर में भी धारा 144 लगा दी गई है. दोनों ही जगह सभी शिक्षण संस्‍थानों को भी अगले आदेश तक बंद रखने का निर्देश दिया गया है. 

वहीं, कांग्रेस नेताओं ने कश्मीर मसले को लेकर लोकसभा और राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है. कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी, के सुरेश तथा मनीष तिवारी ने लोकसभा में, जबकि गुलाम नबी आजाद, अंबिका सोनी, भुवनेश्वर कलिता ने राज्यसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है. हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने भी इसी मुद्दे को लेकर लोकसभा में स्थगन प्रस्ताव दिया है. 

इसी बीच खबर आ रही है कि कश्मीर मसले पर आज विपक्ष के नेता राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद से मुलाकात करेंगे. वहीं, राज्यसभा में आज केवल कश्मीर मुद्दे पर ही चर्चा की जाएगी. सभापति ने शेष सभी कार्यवाही रद्द कर दी है. उच्च सदन के बाद गृहमंत्री अमित शाह लोकसभा में जवाब देंगे. कांग्रेस के दिग्गज नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि जम्मू कश्मीर में लोकतंत्र और शांति खतरे में है.

कश्मीर मुद्दे पर बोले चिदंबरम, कहा- लोकतांत्र की आवाज दबा रही है सरकार

केंद्र के खिलाफ एकजुट हुए कश्मीर के राजनितिक दल, करेंगे सरकार का विरोध

शिवसेना ने उठाया जम्मू कश्मीर मुद्दा, कहा- अब आतंकियों के सामने दबने वाली सरकार नहीं रही