Share:
'अकरुद्दीन सभी दलों में सबसे वरिष्ठ विधायक..',  AIMIM नेता के बचाव में तेलंगाना कांग्रेस के मंत्री उत्तम कुमार रेड्डी
'अकरुद्दीन सभी दलों में सबसे वरिष्ठ विधायक..', AIMIM नेता के बचाव में तेलंगाना कांग्रेस के मंत्री उत्तम कुमार रेड्डी

हैदराबाद: तेलंगाना में नवनिर्वाचित विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर के रूप में AIMIM के अकबरुद्दीन ओवैसी के चयन को लेकर विवाद के बीच, कांग्रेस नेता और राज्य मंत्री उत्तम कुमार रेड्डी ने फैसले का बचाव करते हुए कहा है कि यह एक "सामान्य प्रक्रिया" है।

उन्होंने मीडिया से कहा कि, "यह (अकबरुद्दीन औवेसी की अस्थायी अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति) एक सामान्य प्रक्रिया है और कांग्रेस पार्टी ने वही किया जो सही काम था। विधानसभा में वरिष्ठता के आधार पर, मुझे प्रोटेम स्पीकर होना चाहिए था, जो कांग्रेस पार्टी का सबसे वरिष्ठ विधायक था, लेकिन चूंकि मैंने मंत्री के रूप में शपथ ली है, इसलिए प्रक्रिया ने मुझे प्रो-स्पीकर बनने की अनुमति नहीं दी। तो फिर हमने अन्य 6-टर्म विधायकों, सबसे वरिष्ठ विधायकों को देखा। अकबरुद्दीन औवेसी सभी दलों में सबसे वरिष्ठ विधायक हैं। इसलिए, यह एक सामान्य प्रक्रिया हैरेड्डी ने ओवैसी की नियुक्ति का बचाव करते हुए कहा कि यह पिछली बीआरएस सरकार के दौरान भी अपनाई गई एक सामान्य प्रक्रिया थी। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि जो सही था उसके आधार पर निर्णय लिया गया, किसी बाहरी कारक के कारण नहीं।

उन्होंने आगे कहा कि, 'पिछली बार जब बीआरएस सरकार थी, तो उनके पास प्रोटेम स्पीकर के रूप में AIMIM का एक विधायक था। इसका किसी और चीज से कोई लेना-देना नहीं है। हमने वही किया जो करना सही था। मैं AIMIM के साथ भविष्य के समीकरण पर टिप्पणी नहीं कर सकता।" तेलंगाना के मंत्री उत्तम कुमार रेड्डी ने कहा कि, ''यह हमारे राज्य नेतृत्व का काम है कि वह हर किसी के साथ चर्चा करे। और हमारे राष्ट्रीय नेतृत्व का भी काम है कि वह चर्चा करे और हमें दिशा दे।''

बता दें कि, तेलंगाना में बीजेपी ने ओवैसी को विधानसभा का प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किए जाने पर आपत्ति जताई है। शनिवार को, पार्टी विधायकों ने AIMIM नेता के शपथ ग्रहण समारोह का बहिष्कार किया, यह कहते हुए कि कई नेता ऐसे थे, जो ओवैसी से वरिष्ठ थे और उनकी नियुक्ति को प्रक्रिया का उल्लंघन भी कहा। विधानसभा सत्र के पहले दिन औवेसी की अध्यक्षता में शपथ ग्रहण समारोह का आयोजन किया गया। वहीं, ये भी एक बड़ा सवाल है कि, चुनाव के पहले तक कांग्रेस पूरी ताकत से AIMIM को भाजपा की B टीम बता रही थी और पहले भी पार्टी के प्रमुख नेता राहुल गांधी ये दावा कर चुके हैं, और अब सरकार बनते ही कांग्रेस ने AIMIM विधायक अकबरुद्दीन को प्रोटेम स्पीकर बना दिया है। कई सियासी जानकार इसे तुष्टिकरण से भी जोड़कर देख रहे हैं कि, कांग्रेस किसी न किसी रूप में मुस्लिमों को खुश करना चाहती है, इसलिए ये दांव चला गया है।

सिर्फ कांग्रेस ही क्यों? सांसद धीरज साहू के घर IT रेड में मिले 300 करोड़ कैश पर बोले सीएम सिद्धारमैया

आदिवासी नेता विष्णु देव साय को भाजपा ने बनाया छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री, प्रेरक रहा है राजनीतिक सफर

राजमुंदरी एयरपोर्ट का होगा विस्तार, केंद्रीय मंत्री सिंधिया ने 350 करोड़ रुपये के टर्मिनल भवन की योजना की आधारशीला रखी

  

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -