क्या लॉकडाउन में किफायती साबित होगा पी चिदंबरम का ये फार्मूला ?

Mar 25 2020 06:13 PM
क्या लॉकडाउन में किफायती साबित होगा पी चिदंबरम का ये फार्मूला ?

कांग्रेस नेता पूर्व वित्तमंत्री पी चिदंबरम ने सरकार को दस सूत्रीय फार्मूला सुझाया है. उन्होने यह सुझाव कोरोना वायरस के प्रकोप की वजह से दिया है. साथ ही उन्होने कहा कि लॉकडाउन से खासतौर पर आमलोगों की बढी आर्थिक अस्थिरता को देखते हुए ऐसे लोगों को नगद और राशन सहायता तुरंत मुहैया कराया जाना जरूरी है ताकि लोग घरों से बाहर न निकलें.

इस दिन तक नहीं चलेंगी ट्रेनें, वापस होगा पूरा किराया

आपकी जानकारी के​ लिए बता दे कि संपूर्ण लाकडाउन का समर्थन करते हुए चिदंबरम ने बयान जारी कर कहा कि यह ऐलान कोरोना के खिलाफ नया जंग है जिसमें जनता योद्वा है और प्रधानमंत्री कमांडर. इसीलिए हम सभी का कर्तव्य है कि इस समय हम प्रधानमंत्री, केंद्र और राज्यों की सरकारों को पूरा समर्थन दें. उन्होंने कहा कि घरों से बाहर नहीं निकलने का युद्वघोष बिल्कुल ठीक है मगर हमें यह सोचते हुए प्लानिंग भी करनी होगी कि 21 दिनों तक लोग कैसे जीवन बिताएंगे. उनकी रोजमर्रा की जिंदगी की जरूरतें और रोजी रोजगार का संरक्षण जरूरी है.

क्या कर्नाटक में कोरोना से हुई बुजुर्ग महिला की मौत?

वायरस के प्रकोप के कारण चिंदबरम का सुझाव है कि पीएम-किसान योजना के तहत राशि को छह से दोगुना बढाकर 12000 हजार रुपये कर दिया जाए. साथ ही यह अतिरिक्त राशि लाभार्थी के खाते में तत्काल टांसफर किया जाए. पटटे पर खेती करने वाले किसानों को भी इसके दायरे मे लाया जाए. मनरेगा के तहत रजिस्टर्ड मजदूरों के खाते में भी तत्काल 3000 रुपये की राशि नगद टांसफर की जाए. जबकि शहरी क्षेत्र के गरीबों को मदद देने के लिए जनधन बैंक अकाउंट वाले खाताधारकों को 6000 हजार रुपये दिए जाएं.

Uttarakhand Lockdown: हरिद्वार कुंभ मेला 2021 के 150 करोड़ के काम हुए स्थगित

चारधाम यात्रा 2020: अक्षय तृतीय पर खुल सकता है गंगोत्री धाम के कपाट

भारतीय दूतावास पर आतंकी हमले का प्लान बना रहा था ये संगठन