इजराइल पर 5000 रॉकेट दागने वाले फिलिस्तीनियों का समर्थन कर चौतरफा घिरी कांग्रेस और AIMIM !

इजराइल पर 5000 रॉकेट दागने वाले फिलिस्तीनियों का समर्थन कर चौतरफा घिरी कांग्रेस और AIMIM !
Share:

हैदराबाद: भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव और करीमनगर के सांसद बंदी संजय कुमार ने मंगलवार (10 अक्टूबर) को कांग्रेस और असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) द्वारा इजराइल पर हमला करने वाले हमास आतंकवादियों का समर्थन करने पर उनकी कड़ी आलोचना की है। बता दें कि, फ़िलिस्तीनी आतंकवादी समूह हमास ने शनिवार (7 अक्टूबर) को दक्षिणी इज़राइल में हवाई हमलों की झड़ी लगा दी, जिसमें सैनिकों सहित 1,600 से अधिक लोग मारे गए और 1,900 से अधिक घायल हो गए थे।

 

भारत सरकार ने इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हुए इजराइल के प्रति अपना समर्थन जताया है। वहीं, कांग्रेस और AIMIM ने खुलकर फिलिस्तीन का समर्थन किया है। यह भी गौर करने वाली बता है कि, कांग्रेस ने कल सोमवार सुबह एक बयान में इजराइल पर हुए हमले की निंदा की थी, हालाँकि, कांग्रेस ने सावधानीपूर्वक इसे आतंकी हमला कहने से परहेज किया था। लेकिन इसके बावजूद मुस्लिम समुदाय के लोग कांग्रेस के स्टैंड से नाराज़ हो गए थे, और वोट न देने तक की धमकी दे डाली थी। जिसके बाद कुछ ही घंटों में कांग्रेस ने बड़ा यू टर्न ले लिया और शाम को कांग्रेस वर्किंग समिति (CWC) की बैठक में उस फिलिस्तीन के समर्थन में प्रस्ताव पारित कर दिया, जिसके आतंकी इजराइली महिलाओं को नग्न घुमा रहे हैं और उनके साथ दरिंदगी कर रहे हैं। मुस्लिम वोट बैंक को खुश करने के लिए देश के खिलाफ जाकर कांग्रेस द्वारा उठाए गए इस कदम की जमकर आलोचना हो रही है। लोग कह रहे हैं कि, यदि भारत पर कोई आतंकी इस तरह का हमला करता है, तो क्या कांग्रेस इसी तरह हमलावरों का साथ देगी ?   

 

 
इसी क्रम में एक्स पर मंगलवार (10 अक्टूबर) को पोस्ट करते हुए, संजय ने कहा कि, "हमास का समर्थन करके कांग्रेस और AIMIM दोनों आतंकवाद का समर्थन करते हैं। कोई आश्चर्य नहीं कि भारत को UPA शासन के तहत सबसे खराब आतंकवादी हमलों का सामना करना पड़ा। मजिलिस और कांग्रेस हमेशा पॉपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया (PFI), हमास आतंकवादियों, रोहिंग्याओं के पक्ष में हैं।" बंदी संजय ने एक्स पर लिखा कि, "माननीय प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार भारत के लिए श्री राम रक्षा है।"

 

बता दें कि, भारत में जिस तरह आतंकी 'फ्री कश्मीर' का नारा लगाते हैं और घाटी में बेकसूर लोगों का खून बहाते हैं, वैसे ही हमास के आतंकी फ्री फिलिस्तीन का नारा लगाते हुए इजराइली नागरिकों पर हमला करते हैं और फिर जब इजराइल जवाबी कार्रवाई करता है, तो यही आतंकी महिलाओं और बच्चों को आगे करके विक्टिम कार्ड खेलते हैं। मौजूदा मामले में भी पहले हमास के आतंकियों ने इजराइल पर 5000 रॉकेट दागे थे, जिसमे कई लोग मारे गए और घायल भी हुए। अब इजराइल आतंकियों पर पलटवार कर रहा है, तो कांग्रेस फिलिस्तीन के समर्थन में उतर आई है, जबकि भारत, अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, इटली समेत 84 देशों ने आतंकी हमले की निंदा करते हुए इजराइल का समर्थन किया है।  ऐसे में ये सवाल पुरजोर तरीके से उठ रहा है कि, क्या वोट बैंक के लिए कांग्रेस देश की सुरक्षा के साथ समझौता कर रही है ? क्योंकि, जो इजराइल में हो रहा है, वो भारत में भी हो सकता है और कई बार पहले हो भी चुका है। 1990 का कश्मीरी हिन्दू नरसंहार कौन भूल सकता है, तो क्या उन आतंकियों पर प्रहार नहीं होना चाहिए ?

'राजस्थान और छत्तीसगढ़ में सरकार जा रही है..', फिर कंफ्यूज हुए राहुल गांधी, भाजपा ने ली चुटकी, Video

कश्मीरी पंडित की हत्या करने वाले लश्कर के दो आतंकियों को सेना ने किया ढेर, शोपियां में ऑपरेशन जारी

कांग्रेस का बड़ा यू-टर्न, सुबह इजराइल पर हुए हमले की निंदा, शाम को फिलिस्तीन का समर्थन, क्या मुस्लिम वोट छिटकने का डर ?
   

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -