चुप हूँ किसी सबब से

ुप हूँ किसी सबब से 
तू पत्थर हमें न जान.....
दिल पे असर हुआ है 
तेरी बात बात का..

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -