कोरोना के चलते अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक 30 जून तक बढ़ा सकता है चीन

कोरोना के चलते अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों पर रोक 30 जून तक बढ़ा सकता है चीन

बीजिंग: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस चीन के वूहान शहर से शुरू हुई थी. जिसके बाद चीन ने पूरे देश भर में कई पाबंदियां लगा दी थी, जिसमे हवाई सेवा भी शामिल थी।  हालाँकि अब खबर आई है कि घरेलू उड़ानें शुरू होने के बाद अब चीन अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर रोक 30 जून तक के लिए आगे बढ़ा सकता है. बीजिंग में अमेरिकी दूतावास ने शुक्रवार को ट्रैवल एडवाइजरी जारी की, जिसमें बताया गया कि कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए चीन के नागरिक उड्डयन अधिकारी 30 जून तक इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक बढ़ाने की योजना पर काम कर रहे हैं.

समाचार एजेंसी रायटर के मुताबिक, चीन ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों से आने वाले यात्रियों के माध्यम से कोरोना का संक्रमण फैलने के खतरे को देखते हुए मार्च से ही ऐसी उड़ानें बेहद कम कर दी थी. चीन ने 'फाइव वन' पॉलिसी अपनाई, जिसके तहत किसी भी देश और विदेशी एयरलाइंस के लिए एक हफ्ते में एक उड़ान की ही इजाजत दी गई है. अमेरिका ने पिछले हफ्ते बीजिंग पर अमेरिकी एयरलाइंस के लिए चीन की उड़ान फिर से बहाल करने को असंभव बनाने का इल्जाम लगाया था. अमेरिकी परिवहन विभाग द्वारा सरकारी वेबसाइट पर प्रकाशित एक आदेश में कहा गया था कि डेल्टा एयरलाइंस और यूनाइटेड एयरलाइंस जून में चीन के लिए उड़ानें फिर से बहाल करना चाहते हैं.

आपको बता दें कि अमेरिकी एयरलाइंस कंपनियों कि फ्लाइट्स फाइव वन पॉलिसी के बाद भी चीन के लिए उड़ान नहीं भर रही हैं. इसके पीछे वजह यह बताई जा रही है कि अमेरिकी कंपनियों ने चीनी नागरिक उड्डयन प्रशासन की तरफ से लगाई गई रोक के पहले ही अपनी उड़ानें रद्द कर दी थीं.

फ्रांसीसी बिल्ली कोरोना संक्रमण से हुई रिकवर

भारत-अमेरिका के बीच जल्द हो सकता है अहम् व्यापार समझौता

ISI के हमले में घायल हुआ हिज्बुल चीफ सलाउद्दीन, सामने आई बड़ी वजह