कांग्रेस नेता चिदंबरम का करीबी गिरफ्तार, चीनियों को वीज़ा दिलवाने के लिए खाई थी रिश्वत

नई दिल्ली: कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम (Karti Chidambaram) के एक करीबी को CBI ने गिरफ्तार कर लिया है. यह कार्रवाई कल हुई छापेमारी के बाद की गई है. जानकारी के अनुसार, कार्ति चिदंबरम के करीबी भास्कर रमण को CBI ने गिरफ्तार कर लिया है. उनपर रिश्वत लेने और भ्रष्टाचार के इल्जाम लगे हैं. बता दें कि कार्ति चिदंबरम के 9 ठिकानों पर कल छापेमारी की गई थी. यह एक्शन चीन से संबंधित एक मामले पर हुआ था. इसी में अब भास्कर रमण को भी अरेस्ट किया गया है.

लोकसभा सांसद कार्ति चिदंबरम के विरुद्ध CBI ने मंगलवार को एक नया केस दर्ज किया था. पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के बेटे कार्ति पर आरोप है कि उन्होंने 250 चीनी नागरिकों को भारतीय वीजा दिलाया, जिसके एवज में उन्होंने 50 लाख की रिश्वत खाई. CBI टीम ने मंगलवार को कार्ति चिदंबरम के घर और दफ्तर सहित 9 ठिकानों पर छापे मारे थे. ये छापेमारी चेन्नई, दिल्ली आदि में की गई थी. मुंबई के तीन ठिकानों, कर्नाटक के एक और पंजाब और ओडिशा के एक-एक ठिकाने पर भी CBI ने छापा मारा था.

जिस मामले में CBI ने नया केस दर्ज किया है, उस मामले में जांच पहले से जारी थी. CBI का आरोप है कि कार्ति चिदंबरम ने UPA के कार्यकाल में 250 चीनी नागरिकों को वीजा दिलाया, जिसके एवज में उन्होंने 50 लाख रुपये की रिश्वत खाई. CBI के अनुसार, ये चीनी नागरिक किसी पावर प्रोजेक्ट के लिए भारत आकर काम करना चाहते थे. आरोप है कि ऐसा 2010 से 2014 के बीच हुआ था. प्रारंभिक जांच के बाद इस मामले में CBI ने FIR दर्ज कर ली थी. Karti Chidambaram पर आरोप है कि उन्होंने अतिरिक्त चीनी वर्कर्स को गैरकानूनी ढंग से वीजा दिलाने में सहायता की थी और बदले में रिश्वत खाई थी. 

अबू धाबी स्थित कंपनी आईएचसी ने अडानी कंपनियों में 15,400 करोड़ रुपये का निवेश किया

ज्ञानवापी का सर्वे करने वाले कोर्ट कमिश्नर अजय मिश्रा हटाए गए, मुस्लिम पक्ष ने जताई थी आपत्ति

गुलशन कुमार के कातिलों की याचिका पर सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट, अब्दुल रशीद ने मांगी जमानत

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -