फिटनेस में है रुचि तो न्यूट्रिशन-डायटेटिक्स बनकर सँवारे अपना करियर

कोरोना महामारी में स्वास्थ्य को लेकर लोग बहुत जागरूक हुए हैं। शरीर की इम्युनिटी मजबूत करने के लिए खाने-पीने का ध्यान रखने के साथ-साथ अब योग एवं जिम की तरफ भी रुचि बढ़ी है। यही कारण है कि स्वास्थ्य क्षेत्र में अब करियर की मांग भी बहुत अधिक बढ़ी है। ऐसे में जो फिटनेस एवं मेडिकल के सेक्टर में रुचि रखते हैं, वो न्यूट्रिशन एवं डायटेटिक्स कोर्स कर सकते हैं।

न्यूट्रिशन तथा डायटेटिक्स में करियर:- 
एक न्यूट्रिशन एक्सपर्ट अथवा डाइटिशियन डायटेटिक्स, फूड एवं न्यूट्रिशन, क्लिनिकल न्यूट्रिशन तथा पब्लिक हेल्थ न्यूट्रिशन में ग्रेजुएशन की डिग्री के साथ अपना करियर आरम्भ कर सकता है। इस सेक्टर में BSC के तौर पर काफी सारे मौके हैं। न्यूट्रिशन एवं डायटेटिक्स का दायरा तमाम उद्योगों एवं सेक्टरों में फैला हुआ है। 12वीं के पश्चात् डाइटिशियन कोर्स करने का विकल्प मिल जाता है।

रोजगार की संभावनाएं:- 
इस क्षेत्र में सरकारी एवं निजी दोनों प्रकार के जॉब ऑप्शन मौजूद हैं। हेल्थ सेंटर, स्कूल, हॉस्पिटल, स्पोर्ट्स क्लब, एनजीओ, जिम में रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे। इसके अतिरिक्त हॉस्पिटैलिटी सेक्टर में भी इस प्रोफेशन से जुड़े लोगों को नौकरी दी जाती है। वहीं, कई कॉर्पोरेट कंपनियां भी अपने कर्मचारियों के स्वास्थ्य एवं खान-पान का ध्यान रखने के लिए इस प्रोफेशन वाले व्यक्तियों को हायर करते हैं।

कोको बटर के उपयोग से मिलेगा झुर्रियों से निजात

कोविड की चिंताओं के कारण ब्राजील में कार्निवल 2022 रद्द कर दिया गया है

कभी बैंक में क्लर्क थे अमोल पालेकर, इस लड़की के चलते रखा इंडस्ट्री में कदम

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -