छात्रों ने NAAC टीम के सामने खोली कॉलेज की पोल......

Oct 20 2019 10:41 PM
छात्रों ने NAAC टीम के सामने खोली कॉलेज की पोल......

हाल ही में मिले एक खबर के अनुसार राष्ट्रीय मूल्यांकन एवं प्रत्यायन परिषद (नैक) की चार सदस्यीय टीम शुक्रवार को पटना कॉलेज निरीक्षण को पहुंची। टीम ने कई विभागों का निरीक्षण किया। छात्रों, अभिभावकों, पूर्ववर्ती छात्रों और पूर्ववर्ती शिक्षकों के साथ हुई टीम की बैठक में छात्रों ने कॉलेज प्रशासन पर सवाल खड़ा कर दिये। कहा कि लाइब्रेरी में अपडेट किताबें नहीं हैं। प्रोजेक्टर से पढ़ाई नहीं होती है। सिर्फ इतिहास के सहारे कब तक छात्र रहेंगे। वहीं, पूर्व प्रति कुलपति डॉ. जेपी सिंह ने शिक्षकों की कमी को राज्य सरकार के ऊपर थोप दिया। टीम में बतौर चेयरपर्सन मधुराई कामराज यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. रामाकृष्णन मालाइचामी,  शकुंतला मिश्रा नेशनल रिहैबीलिटेशन यूनिवर्सिटी लखनऊ के डीन डॉ. एपी तिवारी, गोखले एजुकेशन सोसायटी बीआईके कॉलेज ऑफ कॉमर्स नासिक के प्राचार्य डॉ. धनेश कलाल और कर्नाटक की एक यूनिवर्सिटी के केमेस्ट्री के शिक्षक डॉ. बीई कुमार स्वामी शामिल हैं।  

ध्यान देने वाली बात ये है की पूर्ववर्ती छात्र के तौर पर  मंत्री श्याम रजक ने  कहा कि कुछ कमियां हैं, जिसे सरकार दूर करने का प्रयास कर रही है। मौके पर पीयू वीसी  डॉ. रासबिहारी प्रसाद,  डॉ. डॉली सिन्हा, मनोज मिश्रा,  डॉ. रजनीश कुमार, डॉ. एनके झा, डॉ. एएन जमा, प्रो. पीके पोद्दार आदि मौजूद रहे।  नैक की टीम से सबसे पहले कॉलेज के प्राचार्य डॉ. रामाशंकर आर्या के कक्ष में पहुंची।  इसके बाद टीम भूगोल विभाग पहुंची। टीम ने विभागाध्यक्ष के साथ छात्रों से भी सवाल पूछे। टीम के एक सदस्य डॉ. कलाल ने सेवानिवृत्त शिक्षक डॉ. केएन पासवान की तारीफ की। कॉलेज की कैंटीन देखकर टीम ने कहा कि लगता है यह नैक की सूचना पर बनी है। इसमें 14 अक्टूबर के उद्घाटन की तिथि का बोर्ड लगा है। टीम ने कहा कि यह नियमित चलेगी या  बंद हो जाएगी। एनएनएस की टीम से पांच वर्षों का रेकॉर्ड मांगा गया। एनएनएस के कोऑर्डिनेटर डॉ. विभाष के जवाब से टीम संतुष्ट नहीं दिखी। अंग्रेजी विभाग में पार्ट वन की कक्षा में टीम ने  छात्रों से सवाल पूछे। विभागाध्यक्ष डॉ. संजय कुमार ने जानकारी दी। एक सदस्य ने कहा कि छात्रों की अंग्रेजी थोड़ी कमजोर है। हिन्दी विभाग की कक्षा में दो दिव्यांग छात्र छोटू कुमार और विकास कुमार से टीम ने पूछा कि ब्रेल लिपि की किताबें हैं? छात्रों ने जबाव दिया नहीं। 

IIT Guwahati : इन पदों पर M.Sc डिग्री पास करें आवेदन, अंतिम तिथि - 24.10.2019

पिओन के पदों पर वैकेंसी, 10वीं पास करें अप्लाई

प्रबंधक और मेडिकल ऑफिसर के पदों पर वैकेंसी, स्नातक पास करें आवेदन