क्या 'Cryptocurrency' बैन के बाद लगाया जा सकेगा पैसा? जानिए इनवेस्टर पर कितना पड़ेगा असर

हाल ही में Cryptocurrency को लेकर चर्चा तेज हो गई है क्योंकि भारत सरकार एक बिल पेश करने वाली है. संसद के शीतकालीन सत्र में 'द क्रिप्टो करेंसी एंड रेगुलेशन ऑफ ऑफिशियल डिजिटल करेंसी बिल 2021' लाए जाने की बात हो रही है. बिल में आधिकारिक डिजिटल करेंसी बनाने की बात भी कही गई है जिसे RBI जारी करेगा. बिल के मुताबिक, भारत में कुछ करेंसी को छोड़कर सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी पर भी प्रतिबंध लगा दिया जाएगा. इस बार शीतकालीन सत्र 29 नवंबर से आरम्भ होने वाला है.

वही क्रिप्टोकरेंसी प्रतिबंध को लेकर Zerodha के को-फाउंडर निखिल कामथ ने भी प्रश्न उठाया हैं. उन्होंने इस बारे में एक ट्वीट किया है. ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि यदि सरकार सर्कुलेशन में उपलब्ध क्रिप्टोकरेंसी को प्रतिबंधित करती है तो क्या होगा. इसी प्रकार का प्रश्न उनके मन में भी है जिन्होंने इसमें रूपये लगाए हैं. Cryptocurrency में रूपये लगाने का ट्रेंड बीते कुछ समय में बहुत लोकप्रिय हुआ है. ऐसे में आपको कई लोग मिल जाएंगे जिन्होंने इसमें रूपये लगा रखे हैं. इसको लेकर कोई आधिकारिक डेटा उपलब्ध नहीं है मगर इंडस्ट्री के मुताबिक, भारत में 1.5 से 2 करोड़ क्रिप्टो इनवेस्टर्स हैं. इन सभी का टोटल क्रिप्टो होल्डिंग तकरीबन 400 अरब रुपये का है. वही भारत सरकार निरंतर इस पर नजर बनाए हुए थे. बीते सप्ताह सिडनी संवाद में पीएम मोदी ने भी इसपर बातचीत की थी. उन्होंने कहा इस बात का सभी देशों को ध्यान रखना होगा कि क्रिप्टो गलत हाथ में ना पड़े. इससे युवाओं पर गलत प्रभाव पड़ेगा. इससे पूर्व प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर एक महत्वपूर्ण मीटिंग की गई थी. इस मीटिंग में क्रिप्टो मार्केट के रेगुलेशन तथा इससे संबंधित दूसरी चीजों पर चर्चा की गई. अब इस पर प्रतिबंध की खबर आते ही Cryptocurrency की वैल्यू बहुत तेजी से घट गई.

बंद हो जाएगा ट्रांजैक्शन:-
भारत में यदि बिल लाकर सरकार इसे प्रतिबंधित कर देती है तो आपके प्रतिबंध एवं क्रिप्टो एक्सचेंज के बीच ट्रांजैक्शन बंद हो जाएगा. आप लोकल करेंसी को क्रिप्टो खरीदने में इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं. इसके अतिरिक्त आप उन्हें इनकैश भी नहीं करवा सकते हैं. प्रतिबंध होने के पश्चात् इसमें जिनलोगों ने पैसे लगा रखे हैं उनका क्या होगा ये एक बड़ा प्रश्न है. इसका उत्तर बिल पेश होने के पश्चात् ही मिल पाएगा. अभी भारत में फिलहाल क्रिप्टोकरेंसी पर कोई रेगुलेशन या प्रतिबंध नहीं है. हालांकि, अभी कुछ समय में इसके विज्ञापन बहुत तेजी बढ़े हैं. इसमें फिल्म सितारों को भी फीचर किया जाता है तथा इनवेस्टमेंट पर हाई-रिटर्न देने की बात कही जाती है. 2008 में Bitcoin के आरम्भ होने के पश्चात् अभी सैकड़ों क्रिप्टोकरेंसी की ट्रेडिंग हो रही है. प्रतिबंध के पश्चात् इसमें रूपये लगाना आम लोगों के लिए कठिन हो जाएगा.

सोना-चांदी खरीदने का शानदार मौका! कीमतों में आई इस महीने की सबसे बड़ी गिरावट

यदि लगा बैन तो जानें क्या होगा आपकी क्रिप्‍टोकरेंसी का?

कच्चे तेल के दामों में राहत, जानिए पेट्रोल-डीजल का आज का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -