बायर्न म्यूनिख ने लगातार 7वीं बार अपने नाम किया बुंदेसलिगा टाइटल

म्यूनिख : जर्मनी के क्लब बायर्न म्यूनिख ने लगातार 7वां बुंदेसलिगा टाइटल अपने नाम कर लिया। बायर्न ने एंत्राक्त फ्रैंकफर्ट को आखिरी लीग मुकाबले में 5-1 से हराया। इस जीत के साथ ही उसके 29 खिताब हो गए। लीग में बायर्न के 34 मैच में 78 अंक हो गए। वहीं, दूसरे स्थान पर काबिज बोरूसिया डॉर्टमंड के 34 मैच में 76 अंक हैं। बायर्न के पास दूसरा घरेलू टूर्नामेंट जीतने का मौका भी है। 

कई सालों बाद कुछ इस तरह से आउट हुए शोएब मालिक

ऐसा रहा पूरा मुकाबला 

जानकारी के मुताबिक 25 मई को जर्मन कप के फाइनल में उसका मुकाबला आरबी लेईपजिग से होगा। बायर्न के अनुभवी खिलाड़ी फ्रैंक रिबेरी और अर्जेन रोबेन का यह आखिरी मुकाबला था। दोनों ने एक-एक गोल भी किए। रिबेरी नौवीं बार बुंदेसलिगा विजेता टीम का सदस्य रहे। वे इस उपलब्धि को हासिल करने वाले पहले फुटबॉलर हैं। रिबेरी ने आठ खिताब जीतने वाले बायर्न के पूर्व खिलाड़ी फिलिप लाम, बैस्टियन स्वैनस्टाइगर, ओलिवर कान और मेरमेट शॉल को पीछे छोड़ा। उन्होंने 2007 में क्लब ज्वाइन किया था। इस दौरान टीम के लिए 273 मुकाबलों में 86 गोल किए।

जिस समय जिंदगी से जंग लड़ रही थी बेटी, उस समय इस बल्लेबाज ने ठोका टीम के लिए शतक

लगातार होते रहे गोल 

इसी के साथ दूसरी ओर रोबेन ने 2009 में क्लब ज्वाइन किया था। उन्होंने 201 मैच में 99 गोल किए। रोबेन 2010 में वर्ल्ड कप फाइनल खेलने वाली नीदरलैंड की टीम के सदस्य थे। रोबेन ने मैच के 78वें मिनट में गोल किया। मैच में पहला गोल पहला गोल बायर्न के किंग्स्ले कोमान ने चौथे मिनट में किया। इसके बाद फ्रैंकफर्ट के सेबैस्टियन हालर ने 50वें मिनट में स्कोर बराबर कर दिया। बायर्न के लिए डेविड अल्बा ने 53वें मिनट में स्कोर कर टीम को 2-1 की बढ़त दिला दी।

वर्ल्ड कप के लिए फिट हुए केदार जाधव, इस दिन इंग्लैंड लिए होंगे रवाना

एक हाथ से अजित सिंह ने रच दिया इतिहास, बीजिंग के जैवलिन थ्रो में जीता गोल्ड मेडल

इन दो दिग्गजों ने बनाया पृथ्वी शॉ को मानसिक रूप से मजबूत

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -