बीएसईबी ने नक़ल रोकने के लिए किए कड़े इंतजाम: 426 छात्रों को किया गया निष्कासित

Feb 26 2016 07:55 AM
बीएसईबी ने नक़ल रोकने के लिए किए कड़े इंतजाम: 426 छात्रों को किया गया निष्कासित

पटना: इस सत्र के 10वी और 12वी की परीक्षा का दौर शुरू हो चुका है वही सभी राज्यों में इंटरमीडियट परीक्षा कार्यक्रम की तैयारी हो चुकी है। बिहार में तो इंटरमीडियट परीक्षा प्रारंभ हो चुकी है। इस साल परीक्षा को नक़ल मुक्त करने के लिए बहुत ही कड़े इंतजाम किये गए है इसी के चलते बिहार में परीक्षा के पहले दिन बुधवार को नकल करते पाए जाने के बाद 426 छात्रों को निष्कासित किया गया।

खबरों के मुताबिक सबसे ज्यादा मुंगेर जिले में 49 छात्रों तथा औरंगाबाद में 48 छात्रों को निष्कासित किया गया। इसके साथ ही पुरे प्रदेश भर में नक़ल पूरी तरह से रोकने के प्रयास किये जा रहे है। गौरतलब है की पिछले साल वैशाली जिले के एक परीक्षा केंद्र में परीक्षार्थियों को चिट खुद अभिभावकों और मित्रो द्वारा पहुचाई जा रही थी। जिनकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई थी। शायद इसी कारण बोर्ड परीक्षा में नकल पर रोक लगाने के लिए कड़े इंतजाम किये गए है ताकि प्रभावित हुई राज्य की छवि को फिर से सुधारी जा सके।

इतने सशक्त इंतजाम होने के बावजुद भी यहाँ नक़ल नहीं रुक पा रही है। सूत्रों के मुताबिक अभी भी नक़ल कराने के लिए कुछ लोगो को वैशाली जिले के एक स्कूल की इमारत पर चढ़ते देखा गया। इसके अलावा कई स्थान ऐसे है जहां नक़ल न करने देने के कारण छात्रों ने स्कूल में जमकर तोड़फोड़ मचाई हम आपको बता दे की बिहार में परीक्षा के लिए कुल 1109 केंद्र है जिनमे 11 लाख 57 हजार बच्चे परीक्षा दे रहे है।