Share:
आकाशीय बिजली, प्राकृतिक आपदाओं से बचाव हेतु लाए जागरूकता : कलेक्टर
आकाशीय बिजली, प्राकृतिक आपदाओं से बचाव हेतु लाए जागरूकता : कलेक्टर

इंदौर। आकाशीय बिजली, वज्रपात के कारण व्यापक स्तर पर जान- माल का नुकसान होता है। अधिकांश घटनाओं में खेतों अथवा खुले क्षेत्रों में काम करने वाले लोग प्रभावित होते हैं। व्यापक स्तर पर जन-जागरूकता, मैदानी स्तर तक चेतावनी प्रसारण की व्यवस्था तथा स्थानीय स्तर पर तैयारी के उपायों द्वारा इन घटनाओं में जान माल के नुकसान को रोका जा सकता है। कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने यह जानकारी देते हुए निर्देश दिये हैं कि आकाशीय बिजली, वज्रपात की आपदाओं से बचाव हेतु विभागीय तथा जिला स्तर पर पूर्व- तैयारी के सभी आवश्यक कदम उठाए जाएँ।

कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने बताया है कि डिस्ट्रिक कमांड एंड कण्ट्रोल सेंटर (District Command and Control Contre) के माध्यम से भारतीय मौसम विभाग द्वारा प्रतिदिन जारी की जाने वाली Now Casting (वैध्यता अवधी से 6 घंटे तक) चेतावनी तथा Short and Medium range (वैध्यता अवधी-1 से 5 दिन) चेतावनी को मैदानी स्तर के अधिकारीयों तक भेजने की व्यवस्था की जायेगी।

निर्देश दिये हैं कि चेतावनी अवधि के दौरान जिला कमांड, कण्ट्रोल एवं कोआर्डिनेशन सेंटर (DCCC) को 24X7 कार्यरत रखा जाये तथा DOCC का समन्वय पुलिस कण्ट्रोल रूम तथा स्वास्थ्य सेवा कण्ट्रोल रूम, नगरीय निकाय कण्ट्रोल रूम आदि से सुनिश्चित की जाये। जिले के समस्त फील्ड स्टाफ को मोबाइल एप "DAMII" को अपने मोबाइल पर स्थापित करने के निर्देश दिए जाएँ, ताकि उन्हें उस क्षेत्र में आकाशीय बिजली वज्रपात की संभावना की जानकारी 24 घंटे प्राप्त हो। जन समुदाय को भी "DAMINI मोबाइल एप को डाउनलोड करने की सलाह दी गई है। जिला स्तर पर "आकाशीय बिजली, तूफान, धूल भरी आंधी आदि प्राकृतिक आपदाओं के बचाव" से संबन्धित जनजागृति कार्यक्रमों का आयोजन किया जाये। जन-सामान्य को प्राकृतिक आपदाओं से बचाव हेतु अपनाई जाने वाली सावधानियों से संबन्धित सुझाव का प्रचार-प्रसार की व्यवस्था की जाये।

इस कार्य में स्थानीय स्वयंसेवी संगठनों की सहायता भी ली जा सकती है। जिला स्तर पर राहत एवं बचाव कार्यों हेतु सभी सम्बंधित विभागों को आवश्यक निर्देश जारी किया जाये। भारतीय मौसम विभाग द्वारा Short and Medium range चेतावनी को भी गंभीरता से लेते हुए जिले में होने वाले प्रस्तावित समस्त कार्यक्रमों को चेतावनी अवधि में नियोजित एवं संचालित किया जाये। भारतीय मौसम विभाग अथवा “DAMINI" मोबाइल एप द्वारा स्थानीय स्तर पर आकाशीय बिजली/ वज्रपात की चेतावनी को विभिन्न माध्यमों से जन-सामान्य तक भेजने की व्यवस्था की जाएगी। ग्रामीण क्षेत्रों में स्थानीय अधिकारीयों द्वारा लाउडस्पीकर से चेतावनी प्रसारित करने की व्यवस्था की जाएगी।

पूर्व मंत्री जयवर्धन सिंह ने बीजेपी पर कसा तंज : शिवराज मामा नहीं मामू हैं

जेल में बंद विचाराधीन बंदी की संदिग्ध हालात में हुई मौत, परिजनों ने प्रबंधन पर लगाए गंभीर आरोप

सीएम शिवराज का विपक्षी पर निशाना : ख्याली पुलाव पकाते रहे, 2024 में सारे रिकॉर्ड तोड़ेगी मोदी सरकार

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -