ठंड में बढ़ रहा है ब्रेन हेमरेज का खतरा, इस तरह रखे अपना खास ख्याल

मौसम में ठंडक आ चुकी है लेकिन ऐसा होने के साथ ही ब्रेन हेमरेज के मरीजों की संख्या बढ़ने लगी है। इस वजह से जरूरी है कि आप अपनी दिनचर्या को बदलें नहीं तो ब्रेन हेमरेज के शिकार हो सकते हैं। सभी लोगों को सर्द हवाओं से अपने आप का बचाना चाहिए। जी दरअसल डॉक्टर्स का कहना है ठंड के कारण यह समस्या बुजुर्ग लोगों में तेजी से बढ़ रही है। इसी के साथ डाक्टरों का कहना है कि अधिक ठंड के मौसम में घर से बाहर न निकलें क्योंकि खून का थक्का जमने से ब्रेन हेमरेज या कार्डियक अरेस्ट होने की की आशंका बढ़ जाती है। इस समय हालात यह हैं कि सर्द हवाओं ने दिमाग पर हमला करना शुरू कर दिया है। अब निजी अस्पतालों में भी ब्रेन हेमरेज के मरीजों में इजाफा हो गया है।

वहीं चिकित्सकों का कहना है कि आने वाले कुछ दिनों में ब्रेन हेमरेज के मरीज तेजी से बढ़ेंगे। सबसे खास कर जिन लोगों को रक्तचाप की समस्या है, उनमें ब्रेन हेमरेज की आशंका काफी ज्यादा है। आपको बता दें कि ब्रेन हेमरेज के मरीजों में 40 प्रतिशत तक वृद्धि हुई है। बीते सोमवार को भी न्यूरोलॉजी में 16 मरीज भर्ती हुए, उसमें ब्रेन हेमरेज के 10 मरीज शामिल रहे। ऐसा कहा जा रहा है कि आम दिनों में न्यूरोलॉजी में तीन से चार मरीज ही ब्रेन हेमरेज के आते थे, लेकिन अब इनकी संख्या प्रतिदिन 8 पहुंच गई है। ऐसा कहा जा रहा है सर्दियों में रक्त का संचार कम हो जाता है, इस वजह से बुजुर्ग लोगों से भी अपेक्षा की जाती है कि वे शारीरिक गतिविधियां करते रहें, लेकिन यह भी ध्यान रखना चाहिए कि अधिक सर्दी में वह बाहर कम निकलें।

सर्दियों में आपको इन समस्याओं से छुटकारा दिलवाएगा गर्म पानी!

सुबह की सैर थोड़ा देर से शुरू करें और बैठे-बैठे भी हाथ-पांच चलाते रहें। खास कर जिन लोगों को बीपी की समस्या है, उनमें ब्रेन हेमरेज की आशंका काफी ज्यादा है। क्यों होता है ठंड में ब्रेन हेमरेज- जी दरअसल विशेषज्ञों का कहना है ठंड के दिनों में खून में गाढ़ा पन आ जाता है। इसी के साथ ही ठंड की वजह से शरीर की नसें भी सिथिल हो जाती हैं। ऐसे में यदि ब्लडप्रेशर बढ़ता है तो ब्रेन हेमरेज होने का खतरा अधिक रहता है। इसके आलावा ब्रेन हेमरेज का खतरा सबसे अधिक ब्लडप्रेशर की बीमारी वाले मरीजों को रहता है क्योंकि ठंड के दिनों में खून गाढ़ा रहता है और जब ब्लडप्रेशर बढ़ता है तो ब्रेन हेमरेज होने का खतरा बढ़ जाता है। किस तरह से कर सकते हैं बचाव- ठंड के दिनों में यदि बाहर निकलते हैं तो सिर को ढककर निकले।

जिससे ठंड व ठंडी हवाओं का असर अधिक न हो। इसके आलावा यदि एक जगह बैठे हैं तो हाथ पैरों को चलाते रहें। इससे नसों में मूवमेंट बनी रहेगी और शरीर की नसों में रक्तप्रवाह बना रहेगा। इसके अलावा जिन लोगों को ब्लडप्रेशर या खून गाढ़ा होने की शिकायत है तो वे डॉक्टर से संपर्क कर उपचार व दवाएं ले लें।

सर्दी में मेथी खाने से होंगे ये चौकाने वाले फायदे

प्रदेश के अनमोल ने 5 लोगों को दिया नया जीवन, अहमदाबाद में धड़केगा दिल तो इंदौर के मरीज को लगेगा लिवर

नूडल्स, पिज्जा, पास्ता, बर्गर खाने से हो सकता है कैंसर!

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -