स्ट्रेचिंग के कई हैं फायदे, एक्सरसाइज़ के बाद जरूर अपनाएं ये टिप्स

स्ट्रेचिंग के कई हैं फायदे, एक्सरसाइज़ के बाद जरूर अपनाएं ये टिप्स

वर्कआउट से पहले और बाद में स्ट्रेचिंग बहुत महत्वपूर्ण होता है. यह शरीर के लचीलेपन को बढ़ाता है और वर्कआउट के कारण होने वाली चोटों से भी बचाता है. सेहत को स्वस्थ रखने के लिए आपको कई चीज़ों का ध्यान रखना पड़ता है. यदि आप नियमित रूप से स्ट्रेचिंग करते हैं तो यह कई और लाभ प्रदान करते हैं और शरीर के शारीरिक क्रिया को सही तरीके से करने में मदद करते हैं. स्ट्रेचिंग के कई फ़ायदे होते हैं जिनके बारे में आपको बताने जा रहे हैं. 

बैक एंड चेस्ट:
यह स्ट्रेच छाती और पीठ के विकास के लिए फायदेमंद है. इसके अलावा, यह पीठ और छाती से दर्द को भी राहत देता है. इस स्ट्रेच का अभ्यास करने के लिए, सामान्य रूप से खड़े हो जाएं और अपनी बाहों को अपनी तरफ बढ़ाएं और अपनी छाती उठाएं.

एकिंग हैमस्ट्रिंग स्ट्रेच:
हैमस्ट्रिंग के दर्द और लचीलापन से छुटकारा पाने के लिए यह स्ट्रेच काफी फायदेमंद है. इस स्ट्रेच का अभ्यास करने के लिए, अपने पैरों को दो फीट अलग कर लें. फिर अपने घुटनों को झुकाएं और अपने एड़ियों को पकड़ें. इसके बाद, यह धीरे-धीरे अपने पैरों को सीधा करने की कोशिश करें.

स्ट्रेंड लोअर बैक स्ट्रेच:
स्ट्रेंड लोअर बैक स्ट्रेच ऊपरी शरीर में सुधार करता है. इस स्ट्रेच का अभ्यास करने के लिए, बाएं पैर को आगे कर के खड़े हो जाएं. अपने कूल्हे को दबाकर और सीने को ऊपर की ओर बढ़ते समय अपनी मुट्ठी को पीछे की ओर दबाएं. फिर इस प्रक्रिया को दूसरे पैर से भी दोहराएं.

एब्डॉमिनल फ्लेक्स:
इस स्ट्रेच का अभ्यास करने के लिए, अपने हाथों से फर्श पर लेट जाएं. अब अपनी बाहों को दबाएं और ऊपर उठाएं. सुनिश्चित करें, आपके पैरों और कूल्हों जमीन पर फ्लैट हों.

बैक ओपनर:
यह स्ट्रेच पीठ के लिए फायदेमंद होता है. इस स्ट्रेच का अभ्यास करने के लिए, अपनी अंगुलियों को पसाएं. अब अपनी बाहों को अपने सामने लाएं और हथेली को घुमाएं. अपनी बाहों को बढ़ाते समय अपनी ठुड्डी को छाती तक लाएं.

अधिक सोने से हो सकती है आपकी याददाश्त कम

कुर्सी पर बैठकर करें यह एक्सरसाइज होंगे कई फायदे

डिनर के बाद आलस से है परेशान तो आजमाएं ये उपाय