'हरिद्वार में नहाने से ब्लड कैंसर ठीक हो जाएगा', अंधविश्वास ने लिए 5 वर्षीय बच्चे की जान
'हरिद्वार में नहाने से ब्लड कैंसर ठीक हो जाएगा', अंधविश्वास ने लिए 5 वर्षीय बच्चे की जान
Share:

हरिद्वार: उत्तराखंड के हरिद्वार कोतवाली क्षेत्र से बुधवार दोपहर एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया। दिल्ली का एक परिवार 5 वर्षीय बच्चे को लेकर हर की पौड़ी पहुंचा था, यहां बच्चे की मौत हो गई। वहां उपस्थित लोगों का आरोप है कि महिला ने उस बच्चे  को डुबाकर मार डाला। महिला उस बच्चे की मां है या रिश्तेदार इसकी जानकारी अभी जुटाई जा रही है। मामले की खबर प्राप्त होते ही मौके पर पहुंची पुलिस बच्चे को जिला चिकित्सालय ले गई थी। वहां, चिकित्सकों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने बच्चे के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा दिया है। एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह ने बताया कि पति-पत्नी एक बच्चे को लेकर आए थे। उनके साथ एक और महिला भी थी। प्रथम दृष्टया पता चला है कि बच्चे को ब्लड कैंसर हो गया था। साथ आए पति-पत्नी ने बताया था कि सर गंगाराम अस्पताल में उस बच्चे को दिखाया था। चिकित्सकों ने उसको जवाब दे दिया था। ड्राइवर कुलदीप कुमार ने बताया कि वह सुबह लगभग 9 बजे परिवार को दिल्ली से अपनी टैक्सी में लेकर हरिद्वार पहुंचा था। ड्राइवर ने बताया कि जब वे लोग बालक को लेकर उसकी गाड़ी में बैठे थे, तभी से बालक बीमार नजर आ रहा था। उसे कंबल में लपेटा हुआ था। हरिद्वार तक उसकी तबीयत अधिक खराब होती दिखाई पड़ रही थी। उसके मुताबिक, परिजन बालक की तबीयत अधिक खराब होने और गंगा स्नान कराने की और मेडिकल ट्रीटमेंट की बात टैक्सी में कर रहे थे।

पुलिस ने बताया कि आस्था के चलते परिवार बच्चे को एक बार यहां पर दर्शन कराने तथा गंगा स्नान कराने के लिए लाया था। ड्राइवर ने बताया कि बच्चा रास्ते में बातें कर रहा था। तत्पश्चात, वे लोग हर की पौड़ी पहुंचे। वहां बच्चे को स्नान कराने लगे। लेकिन, उनका तरीका देखकर वहां उपस्थित लोगों को कुछ अजीब लगा। दरअसल, साथ आई एक महिला बच्चे को बहुत देर तक गंगा नदी में डुबोए रही। इसके बाद वहां हंगामा हो गया। हर की पौड़ी पर उपस्थित लोगों ने पति-पत्नी को घेर लिया तथा उन पर बच्चे को डुबोकर मार डालने का आरोप लगाया। इसके बाद उनके साथ मारपीट भी की गई। सोशल मीडिया पर इसके वीडियो वायरल हो रहे हैं। इस बीच किसी ने पुलिस को खबर दे दी थी। फिर बच्चे के शव को लेकर पुलिस जिला चिकित्सालय पहुंची, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

एसपी सिटी स्वतंत्र कुमार सिंह ने कहा कि बच्चे को ब्लड कैंसर होने की बात सामने आई है। कहा जा रहा है कि चिकित्सकों ने उसे जवाब दे दिया था। लिहाजा, परिवार बच्चे को यहां लेकर आया था। उनको भरोसा था कि ऐसा कराने से बच्चा ठीक हो जाएगा। महिला भी बच्चे के शव को घाट पर लेकर बैठ गई थी। वह कभी हंस रही थी, तो कभी वहां उपस्थित लोगों को भगा रही थी। वह यह दावा भी कर रही थी कि बच्चा अभी जिंदा होकर खड़ा हो जाएगा। लेकिन, ऐसा नहीं हुआ। फिलहाल, पुलिस गंगाराम हॉस्पिटल की रिपोर्ट को दिखवा रही है।

आप नहीं जानते होंगे गणतंत्र दिवस से जुड़ी ये बातें

'हम ममता बनर्जी के बिना इंडिया ब्लॉक की कल्पना नहीं कर सकते हैं', TMC के ऐलान पर आई कांग्रेस की प्रतिक्रिया

टूटा I.N.D.I. गठबंधन! ममता बनर्जी के बाद भगवंत मान ने किया अकेले चुनाव लड़ने का ऐलान

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -