सियासत की आग में झुलस रहा बंगाल, भाजपा मना रही काला दिन, बसीरहाट बंद

सियासत की आग में झुलस रहा बंगाल, भाजपा मना रही काला दिन, बसीरहाट बंद

कोलकाता: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पश्चिम बंगाल में अपने कार्यकर्ताओं की हत्या और ‘बिगड़ती’ कानून और व्यवस्था के विरोध में सोमवार को ‘काला दिवस’ मना रही है. भाजपा ने उत्तरी 24 परगना जिले के बसीरहाट उप संभाग में 12 घंटे का बंद बुलाया है. भाजपा ने प्रदेश के कई हिस्सों में रैलियां निकालीं, जिसमें भाजपा कार्यकर्ताओं ने काली पट्टी बांध रखी थी. बसीरहाट में हालात तनावपूर्ण बने हुए हैं. भाजपा और टीएमसी के कार्यकर्ताओं के बीच शनिवार को बसीरहाट के संदेशखली इलाके में झड़प हो गई थी.

पश्चिम बंगाल में अब सियासत को खुनी रंग चढ़ चुका है, भारतीय जनता पार्टी और तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के बीच आए दिन हिंसक झड़पें देखने को मिल रही हैं। इन झड़पों में दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता मारे जा रहे हैं, जिसका आरोप दोनों सियासी दल एक दूसरे पर मढ़ रहे हैं।  माना ये भी जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में जिस तरह से भाजपा ने बंगाल में विजयी परचम फहराया है, उससे दीदी (ममता बनर्जी) बौखला गई हैं और इसी कारण वे हिंसा का साहरा ले रही हैं, यहाँ तक कि पुलिस प्रशासन भी हिंसा की घटनाओं को रोकने में नाकाम दिख रही है, जिस कारण राज्य सरकार पर शंका होना लाजमी है।

इन्ही हिंसा की घटनाओं और भाजपा कार्यकर्ताओं की मौतों से आक्रोशित होकर बीजेपी ने आज बशीरहाट में बंद का आह्वान किया है, साथ ही आज कला दिन मनाने का भी ऐलान किया है। भाजपा के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय के नेतृत्व में आज पार्टी अपने पूरे दमखम के साथ बशीरहाट में प्रदर्शन करेगी। 2021 में पश्चिम बंगाल में विधान सभा के चुनाव भी होने हैं जिसमे भाजपा अपना झंडा गाड़ने के लिए पूरा जोर लगा रही है, वहीं टीएमसी अपनी खिसकती जमीन को संभालने की कवायद में है। अब ये देखना दिलचस्प होगा कि दोनों दलों में से बंगाल की आवाम किस तरफ जाती है। 

श्रीलंका में दिखा पीएम मोदी का रुतबा, खुद राष्ट्रपति ने छाता लेकर की अगवानी

वायनाड से राहुल गाँधी की जीत पर ओवैसी ने उठाए सवाल, कहा- मुसलमानों के कारण जीते

कैप्टन से तनाव के बीच राहुल गाँधी से मिले सिद्धू, पत्र भी सौंपा