आदिवासी चाहे जिस राज्य का हो, उसे दूसरे राज्य में भी आरक्षण मिले: BJP

भोपाल: भारतीय जनता पार्टी एसटी मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने देश के किसी भी हिस्से में रहने वाले आदिवासी को प्रत्येक राज्य में अनुसूचित जनजाति आरक्षण का लाभ देने का प्रस्ताव पारित कर दिया है। जी दरअसल मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की रांची में बैठक हुई। यह बैठक बीते शनिवार को हुई और इस बैठक में केंद्रीय जनजातीय कार्य राज्य मंत्री विशेश्वर टुडू केंद्रीय इस्पात राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते की उपस्थिति में प्रस्ताव पारित हुआ। इसमें उन्होंने कहा, 'आदिवासी चाहे जिस भी राज्य का रहनेवाला हो, उसे दूसरे राज्यों में भी समान रूप से जनजातीय आरक्षण का लाभ मिलना चाहिए।'

आपको बता दें कि इसके पहले राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक का उद्घाटन केंद्रीय जनजातीय कार्य मंत्री अर्जुन मुंडा ने किया था। इस बैठक में केंद्रीय राज्य मंत्री रेणुका सिंह, अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय के राज्य मंत्री जॉन बारला, मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष व सांसद समीर उरांव, पूर्व कैबिनेट मंत्री रामविचार नेताम, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवर दास, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी, त्रिपुरा के उपमुख्यमंत्री विष्णुदेव बह्मा, सांसद दिलीप सैकिया सहित देश भर के 200 से ज्यादा जनजातीय नेता ने भाग लिया। आपको बता दें कि पहले दिन की बैठक में राजनीतिक प्रस्ताव मध्य प्रदेश के राज्यसभा सांसद राष्ट्रीय नीति एवं शोध प्रभारी डॉ सुमेर सिंह सोलंकी द्वारा पेश किये गये।

वहीं इस प्रस्ताव में यह कहा गया कि कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शानदार तरीके से आगे बढ़कर जिम्मेदारी संभाली है। बीते 21 अक्टूबर को देश में 100 करोड़ से भी अधिक लोगों का टीकाकरण हो जाना इसका एक प्रमाण है। वहीं पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा के निर्देश पर पार्टी की ओर से चलाये गये सेवा ही संगठन के जरिये भी पार्टी के एसटी मोर्चा के सभी कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रयास किये। वहीं केंद्र के स्तर से चलायी जा रही योजनाओं से शहर से गांव तक हर वर्ग, धर्म के लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आये। हालाँकि झारखंड में जनजाति समाज की स्थिति पर कार्यसमिति की बैठक में चिंता जतायी गयी। ऐसा कहा गया कि केंद्र के स्तर से चलायी जा रही योजनाओं का लाभ एसटी अन्य वर्गों तक तरीके से नहीं पहुंच रहा है जो चिंताजनक है।

बिग बॉस 15 में ये कंटेस्टेंट बना पहला वाइल्ड कार्ड, हिना खान भी मचाएगी धूम

भारत-पाकिस्तान का मैच देखने दुबई गए थे गृह मंत्री, आखिर क्यों इमरान खान ने बुलाया वापस?

पेट्रोल-डीजल की कीमतों ने तोड़ा रिकॉर्ड, जानिए अपने शहर का भाव

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -