शांति व्यवस्था रहे बरक़रार, इसलिए हिरासत में ले लिए गए हनुमान जी

शांति व्यवस्था रहे बरक़रार, इसलिए हिरासत में ले लिए गए हनुमान जी

पटना: आमतौर पर शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस एहतियातन उपद्रवियों को हिरासत में लेती है ताकि किसी अवांछित घटना को होने से पहले रोका जा सके. किन्तु बिहार के वैशाली जिले में हिरासत का एक अजीबोगरीब मामला प्रकाश में आया है, जहां शांति बनाए रखने के लिए पुलिस को भगवान हनुमान को ही 'हिरासत' में लेना पड़ा.

आईएएनएस की रिपोर्ट के अनुसार, पुलिस ने इस मामले में दो अलग-अलग पक्षों की तरफ से दो अलग-अलग केस दर्ज कर लिए हैं. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया है कि, "पानापुर गौराही गांव में बलवा क्वोरी ठाकुरबाड़ी में एक विवादित भूमि पर कुछ लोगों (तीसरे पक्ष) ने भगवान हनुमान की मूर्ति स्थापित करने की कोशिश की. इसे लेकर ठाकुरबाड़ी समिति के लोग क्रोधित हो गए. इसे लेकर तब विरोध और बढ़ गया, जब कुछ लोगों ने इस पर आपत्ति जताते हुए प्रतिमा को वहां से हटाने की मांग की."

इसके बाद दोनों पक्षों में टकराव की स्थिति पैदा हो गई. सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची सदर पुलिस ने हनुमानजी की प्रतिमा को अपने कब्जे में ले लिया. हाजीपुर के पुलिस उपाधीक्षक राघव दयाल ने कहा कि दोनों पक्षों के लिखित आवेदन के बाद सदर थाने में केस दर्ज कर लिया गया है. उन्होंने कहा है कि "सार्वजनिक जमीन पर मंदिर या प्रतिमा की स्थापना प्रतिबंधित है. भगवान हनुमान की प्रतिमा को कब्जे में ले लिया गया है और उसे थाने में सुरक्षित रखा गया है. पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है."

Google Doodle : कामिनी राय का जीवन था समाज को समर्पित, महिलाओं के लिए किया था ये काम

कलकत्ता हाई कोर्ट में दाखिल हुई अजीबो-गरीब याचिका, मांग- दोषियों को जिंदा वापस भेजें यमराज...

अस्पताल में भीख मांगकर गुजारा करती है ये महिला, लेकिन इनका बैंक बैलेंस जानकार चौंक जाएंगे आप....