बिहार: 4 बच्चों के खिलाफ दर्ज हुआ बूथ लूटने का मुकदमा, वोटरों को धमकाने का भी आरोप

पटना: बिहार में पंचायत चुनाव के दौरान बेगूसराय से एक अजीबोगरीब मामला प्रकाश में आया है. दरअसल, प्रशासन ने चार मासूम बच्चों पर बूथ लूटने का केस दर्ज कर दिया है. बच्‍चों पर पंचायत चुनाव में बूथ लूटने और वोटरों को धमकाने का इल्जाम लगा है. अब ये बच्चे कोर्ट में हाजिर हैं. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, बेगूसराय के सदर प्रखंड के राजौड़ा में पंचायत चुनाव के दौरान बच्चों से बूथ लूटने, मतदाताओं को धमकाने और सरकारी काम में बाधा पैदा की गई है.

जिला प्रशासन की फाइलों में दर्ज दस्तावेज़ों में चार से पांच मासूम बच्चों पर चुनाव को प्रभावित करने, वोटरों को धमकाने जैसे कई संगीन इल्जाम लगाए गए हैं. जिसके बाद इन बच्चों को अब अदालत में हाजिरी लगानी पड़ रही है, जिससे न केवल बच्चे, बल्कि परिजन भी परेशान हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, बिहार के बेगूसराय प्रखंड में जल्द ही पंचायत चुनाव होने हैं. इसके लिए जिला प्रशासन निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए कई प्रकार की व्यवस्था की जा रही है. इसी क्रम में यहां चार से पांच नाबालिग बच्चों को अदालत में हाजिर होने को कहा गया. इन बच्चों द्वारा पंचायत चुनाव के दौरान हिंसा करने बूथ लूटने, वोटरों को डराने, धमकाने, खून-खराबा करने की पूर्ण आशंका जताई गई है. 

यही नहीं इनपर शांति भंग और विधि व्यवस्था की समस्या उत्पन्न होने और चुनाव कार्य में व्यवधान डालने की संभावना व्यक्त की गई है. नोटिस मिलने के बाद इन बच्चों को संबंधित अदालत में हाजिर भी कराया गया. इस पूरी घटना को प्रशासनिक चूक का परिणाम माना जा रहा है, जिसकी वजह से पूरा परिवार मानसिक पीड़ा के साथ ही डरा सहमा है. पीड़ित परिवार के लोगों का कहना है कि यह दुश्मनों की चाल है जिसके चलते उनके बच्चों का भविष्य खराब किया जा रहा है. परिवार वालों ने बताया कि कुछ लोगों से मामूली मारपीट के विवाद में दुश्मनों ने मुफस्सिल थाना पुलिस अधिकारी के साथ मिलकर साजिश के तहत इस वारदात को अंजाम दिया है.

सेंसेक्स और निफ्टी में आई गिरावट, जानिए क्या है बाजार का हाल

दूसरे भाई-बहन से ज्यादा प्यार करते थे माँ-बाप, लड़की ने पूरे परिवार को जहर देकर मार डाला

ड्रग्स केस: आर्यन खान को बचाने के लिए सुप्रीम कोर्ट पहुंचे शिवसेना नेता, NCB पर लगाए संगीन आरोप

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -