भारत और अमेरिका को चीन का पलटवार, अब चीन ने लगाए अमेरिकी और भारतीय एप कर प्रतिबन्ध

हिन्दुस्तान के उपरांत अब चीन ने भी डिजिटल स्ट्राइक कर दिया है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के अनुसार चीन की सरकार ने 105 ऐप को बैन करने का एलान कर दिया है. अमेरिका सहित दुनिया के कई बड़े देशों की मशहूर ऐप पर रोक लगा चुके है. उन्हें तुरंत ऐप स्टोर से हटाने की घोषणा कर दी है. आपको बता दें कि इस वर्ष हिन्दुस्तान ने तीसरी बार चीन पर डिजिटल स्ट्राइक की है. इस बार केंद्र सरकार ने 43 मोबाइल एप्लिकेशंस पर पूरी तरह से बैन की घोषणा कर दी है. इस विवाद के उपरांत से अब तक चीन के करीब 220 चीनी मोबाइल एप्स को भारत में बैन कर दिए गए हैं. इनमें टिकटॉक पबजी और यूसी ब्राउजर जैसे पॉपुलर ऐप भी मौजूद हैं.

चीन ने ऐप पर क्यों लगाई रोक-चीन ने अमेरिका के ट्रैवल फर्म ट्रिपएडवाइजर सहित 105 ऐप्स को देश के एप स्टोर्स से हटा  चुके है.मिली जानकारी के अनुसार नए अभियान के तहत यह रोक लगा चुके है. इन ऐप्स पर अश्लील साहित्य, वेश्यावृत्ति, जुआ और हिंसा जैसी सामग्री फैलाने का आरोप है. चीन के साइबरस्पेस प्रशासन ने मंगलवार को अपनी वेबसाइट पर दिए बयान में कहा है कि इन ऐप ने बिना सूचना दिए एक से ज्यादा साइबर कानूनों का उल्लंघन कर चुके है.

इस साल हिन्दुस्तान भी लगा चुका है कई ऐप पर प्रतिबंध- भारत गवर्नमेंट ने जून 2020 में टिकटॉक समेत 59 मोबाइल एप्लिकेशन को प्रतिबंधित कर दिया था. जिसके अतिरिक्त 2 सितंबर को 110 अन्य एप्लिकेशंस पर रोक लगाई थी जिनमें से अधिकतर चीन संचालित एप्लिकेशन हैं. इनमें से कई एप्स पर भारतीय नागरिकों का अत्यधिक डेटा जमा करने और खास तौर पर सीमावर्ती इलाकों में रहने वाले लोगों के बारे में प्रोफाइलिंग कर जानकारियां बटोरने के इलज़ाम लगाए गए थे.

वैक्सीन रोल-आउट, ब्रिटिश की इस महिला को मिली फाइजर से पहली कोरोना वैक्सीन

ब्रिटेन में आज से शुरू होगा कोरोना का टीकाकरण, सबसे पहले क्वीन एलिज़ाबेथ को लगेगी वैक्सीन

US के विदेश मंत्री पोम्पिओ बोले- धार्मिक स्वतंत्रता के उल्लंघन मामले में चीन और पाक नाइजीरिया जैसे

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -