इंदौर: कमिश्नर सिस्टम लागू होते ही पहले कमिश्नर बने हरिनारायणचारी मिश्रा, कही यह बात

इंदौर: मध्यप्रदेश में पुलिस कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद बीते शुक्रवार को इंदौर के पहले कमिश्नर बनने के बाद हरिनारायणचारी मिश्र ने कार्यभार ग्रहण कर लिया। वहीं इसके बाद उन्होंने मीडिया से बातचीत की। इस बातचीत में कमिश्नर मिश्र ने कहा, 'आंतरिक सुरक्षा के साथ अपराधियों पर सख्त कदम और बेहतर कानून व्यवस्था बनाने के लिए ही पुलिस काम करेगी। पुलिस की कार्रवाई का मुख्य उद्देश्य ये होगा कि गुंडों में खौफ रहे और आम जनता अपने आपको पूरी तरह सुरक्षित समझे। सिस्टम लागू होने के बाद पुलिस पर ज्यादा जिम्मेदारी आ गई है। पुलिस की प्राथमिकता में महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों को सुरक्षा और सम्मान मिले,इसके लिए काम करेंगे।

इसके साथ ही ऐसी व्यवस्था भी करेंगे कि आम जनता को आसानी से न्याय मिले,उसके लिए हर संभव प्रयास पुलिस करेगी। पुलिस दूसरे विभागों से सामंजस्य करते हुए कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने की दिशा में काम करेगी।' आपको बता दें कि कमिश्नर सिस्टम लागू होने के बाद सबसे बड़ी चुनौती पुलिस बल की कमी है। ऐसे में इसे लेकर कमिश्नर ने कहा, 'नई व्यवस्था मिलने के बाद धीरे-धीरे सभी जरुरी संसाधनों को जुटाया जाएगा। नए अधिकारियों को उन संसाधनों के अधीन काम करने के अनुरूप बेहतर व्यवस्था स्थापित करने को लेकर दिशा-निर्देश दिए जाएंगे ताकि शहर में बेहतर कानून व्यवस्था लागू करने की दिशा में काम किया जाए। क्राइम कंट्रोल के लिए कमिश्नर सिस्टम को पूरी ताकत से लागू किया जाएगा। हमारे सामने जो भी चुनौती आएगी उससे निपटा जाएगा।'

आपको बता दें कि हरिनारायणचारी मिश्र शहर में डीआईजी और आईजी के रुप में कार्य कर चुके हैं। जी हाँ और उन्हें इंदौर के बारे में काफी जानकारी है। वह जानते हैं अपराधियों पर शिकंजा कैसे कसना है और इसे कसने के लिए पुलिस के आपरेशन क्राइम कंट्रोल के तहत गुंडे बदमाशों के साथ भी भू माफियाओं पर भी कड़ी कार्रवाई हो चुकी है।

'केरल CM पिनराई विजयन की बेटी और मोहम्मद रियास की शादी अवैध संबंध...', मुस्लिम नेता का विवादित बयान

हिमाचल प्रदेश में 'सवर्ण आयोग' के गठन को मिली मंजूरी, सीएम जयराम ने किया ऐलान

रिसेप्शन पार्टी में मांग में सिंदूर और मंगलसूत्र पहने नजर आईं सायंतनी घोष

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -