एनीमिया को दूर करता गौमूत्र, पहुंचाता है कई फायदे

एनीमिया को दूर करता गौमूत्र, पहुंचाता है कई फायदे

आयुर्वेद के अनुसार गौ मूत्र बहुत फायदेमंद होता है. इसे पीने से आपके कई रोग फर होते हैं. लेकिन बहुत ही कम लोग ऐसे होते हैं जिन्हें ये अच्छा लगता है. कई लोग इसे घिना मान कर इसका सेवन नहीं करते. कहा जाता है कि गौ मूत्र में औषधीय गुण होते हैं जो आपको कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से बचाने में मदद करते हैं. गौमूत्र में एंटीबायोटिक, एंटीफंगल गुण होते हैं. इसके साथ ही इसमें 95 प्रतिशत पानी, 2.5 प्रतिशत यूरिया, मिनरल 24 तरह के नमक, हार्मोन्स होते हैं. जिनकी मदद से आपको कई फायदे पहुंचते हैं.  

त्वचा संबंधी समस्याओं को दूर करने में: आयुर्वेद के अनुसार गौमूत्र का इस्तेमाल मुंहासें, एक्जिमा जैसी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता रहा है. गौमूत्र में एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल और एंटीइंफ्लेमेटरी गुण होते हैं जो घावों को भरने में मदद करते हैं. इसके लिए आपको त्वचा पर या प्रभावित क्षेत्र पर गौमूत्र लगाना होता है.
 
बुखार का इलाज करने में: गौमूत्र का इस्तेमाल बुखार के इलाज में भी किया जाता है. इसके लिए गौमूत्र में घी, दही और काली मिर्च मिलाकर इस्तेमाल करें. इसके अलावा गले में दर्द को दूर करने के लिए गौमूत्र में शहद और हल्दी मिलाकर गरारे करने से गला ठीक हो जाता है.

एनीमिया से रोकथाम: एनीमिया से रोकथाम के लिए त्रिफला, गाय का दूध और गौमूत्र को मिलाकर इसका सेवन करने से इसकी समस्या दूर होती है. इन तीनों चीजों के मिक्सचर को महायोगराज गुगल भी कहा जाता है.

विषाक्त पदार्थ शरीर से बाहर निकालता है: गाय के मूत्र का सेवन शरीर से विषाक्त पदार्थ बाहर निकालने में मदद करता है. इसका सेवन करने से आप कई स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं से बच सकते हैं. इसके साथ ही इससे ओबेसिटी, हाई ब्लड प्रेशर और डायबिटीज की समस्या दूर होती है.

नवरात्री में गर्भवती भी रख सकती हैं व्रत, लेकिन इन बातों का रखें ध्यान

घर के बदबूदार धुएं को बाहर निकालने के लिए इन उपायों का करें इस्तेमाल

क्या आप जानते हैं ओलोंग टी के बारे, जानिए क्या हैं इसके लाभ