INDIA गठबंधन की बैठक से पहले उद्धव गुट ने 23 सीटों पर तय कर दिए उम्मीदवार ! अब क्या करेगी कांग्रेस ?
INDIA गठबंधन की बैठक से पहले उद्धव गुट ने 23 सीटों पर तय कर दिए उम्मीदवार ! अब क्या करेगी कांग्रेस ?
Share:

मुंबई: अगले कुछ महीनों में होने वाले लोकसभा चुनाव को लेकर महाराष्ट्र में सीटों के बंटवारे पर चर्चा के लिए महा विकास अघाड़ी (MVA) के नेता कल मंगलवार को नई दिल्ली में बैठक करने वाले हैं। लेकिन इससे पहले ही उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली शिवसेना (UBT) महाराष्ट्र में बड़ा भाई बनती नजर आ रही है। पार्टी ने उन 23 सीटों पर अपने संभावित प्रत्याशियों के नाम को हरी झंडी दिखा दी है, जिन पर वो चुनाव में उतरेगी। शिवसेना (UBT) के प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा है कि, 'हमने 23 सीटें डिसाइड की है। हमारे पास इन सभी 23 सीटों के लिए प्रत्याशी हैं और हम उन्हें मंजूरी भी दे चुके हैं। दिल्ली में प्रस्तावित बैठक में हम अपनी इस मांग को रखेंगे।'

उल्लेखनीय है कि, वर्ष 2019 में जब शिवसेना ने भाजपा से गठबंधन में चुनाव लड़ा था, तो उसके पास यही 23 सीटें थीं, जिसमे से उसे 18 पर जीत मिली थी। वहीं, भाजपा ने 26 सीटों पर चुनाव लड़ा था। हालांकि, 2022 में विद्रोह के बाद उद्धव गुट के 12 सांसदों ने सीएम एकनाथ शिंदे वाली शिवसेना ज्वाइन कर ली थी। ऐसे में माना जा रहा है कि, उद्धव की पार्टी के सांसद संजय राउत ने कहा कि सेना अपने 5 मौजूदा सांसदों को वापस टिकट दे सकती है। इनमें अरविंद स्वांत (मुंबई दक्षिण), विनायक राउत (रत्नागिरी-सिंधुदुर्ग), ओमराजे निंबालकर (उस्मानाबाद), संजय जाधव (परभणी) और राजन विचारे (ठाणे) शामिल हैं।

मुंबई उत्तर-पश्चिम के सांसद गजजन कीर्तिकर शिंदे सेना के दलबदलुओं में शामिल हैं। बताया जा रहा है कि ठाकरे सेना गजानन कीर्तिकर के बेटे अमोल कीर्तिकर को मुंबई उत्तर-पश्चिम से मैदान में उतार सकती है। राउत ने कहा कि, 'हमने उनसे चुनाव के लिए तैयार रहने के लिए कहा है।' हालाँकि, शिवसेना (UBT) भले ही यह दावा कर रही हो कि उसने अपने प्रत्याशियों को हरी झंडी दे दी है, मगर यह आसान नहीं होने वाला है, क्योंकि कांग्रेस भी महाराष्ट्र में अपना हक मांगेगी और NCP भी। ये तीनों दल INDIA गठबंधन का हिस्सा हैं, अब सीट बंटवारा कैसे होगा ये तो वक़्त ही बताएगा। 

मंदिर में घुसकर अज्ञात लोगों ने तोड़ी भगवान राम और हनुमान की मूर्तियां, रांची में तनाव का माहौल

स्थानीय लोगों के बीच आसानी से छिप जाते हैं छोटे आतंकी समूह, निशाने पर हिन्दू, खुफिया एजेंसियों के लिए पहचानना मुश्किल

चाचा शरद की उम्र पर अजित ने कसा तंज, पवार परिवार में फिर छिड़ी सियासी जंग !

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -