'मुगलों के कारण रात में शादी के फेरे होने लगे', बोले BJP विधायक बालमुकुंद आचार्य
'मुगलों के कारण रात में शादी के फेरे होने लगे', बोले BJP विधायक बालमुकुंद आचार्य
Share:

जयपुर: राजस्थान के जयपुर की हवामहल सीट से भारतीय जनता पार्टी MLA बालमुकुंद आचार्य (Balmukund Acharya) ने एक बार फिर ऐसा बयान दिया है, जिसकी चारों तरफ चर्चा है। उन्होंने कहा कि भारत में सूर्य को साक्षी मानकर शादी के फेरे हुआ करते थे, मगर जबसे भारत में मुगलों ने आक्रमण किया, उसके पश्चात् से दिन में शादी और फेरे की रस्म होना बंद हो गई क्योंकि तब मुगल बहन-बेटियों को उठाकर ले जाते थे। इसलिए उनसे छिपाक रात में फेरे की रस्म आरम्भ हुई।  

राजस्थान के शिक्षा मंत्री मदन दिलावर (Madan Dilawar) के बयान का समर्थन करते हुए बालमुकुंद आचार्य (Balmukund Acharya) ने कहा कि मुगल विदेशी आतंकी थे। उन्होंने भारत में लूट एवं हिंसा की वारदातें की थीं, ऐसे में इनको महान बताना सरासर गलत है। इन लोगों की तो चर्चा तक नहीं होनी चाहिए। सिलेबस में इनको पढ़ाना तो बेहद दूर की बात है। बालमुकुंद ने कहा कि अकबर नहीं महाराणा प्रताप एवं शिवाजी महान हैं, जिन्होंने मातृभूमि को बचाने के लिए अपने प्राणों का बलिदान दिया है। हमारे देश में कोई बाबर तो कोई अकबर को महान बता देता है, किन्तु इतिहास को देखते हैं तो पता चलता है कि इन्होंने भारत को लूटने के अतिरिक्त कोई काम नहीं किया। इसलिए मैं चाहता हूं कि विदेशी आक्रांताओं को विद्यालयों के सिलेबस से हटा देना चाहिए।  

भाजपा MLA ने कहा कि हम सभी मुगलों का इतिहास जानते हैं। बेटे ने पिता को जेल में डाल दिया एवं शासन किया। वे अत्याचारी थे। हम उन्हें महान लोगों के रूप में कैसे देख सकते हैं। सिलेबस में ऐसे अत्याचारियों का उल्लेख मुझे गलत लगता है। हमें अपनी संस्कृति एवं पूर्वजों के इतिहास के बारे में सीखना चाहिए। हवामहल MLA ने कहा कि जब मैं दिल्ली जाता हूं तो अकबर रोड का नाम सुनकर मुझे पीड़ा होती है क्योंकि जिस अकबर ने हमारे देश पर आक्रमण किया। हमने उसी की याद में सड़क का नामकरण कर दिया। मैं सोचता हूं तथा चाहता हूं कि मुगलों के नाम से न तो किसी सड़क एवं न ही किसी शहर का नाम होना चाहिए। इसलिए मैं देश के और सभी प्रदेशों के शिक्षा मंत्री से भी यह निवेदन करता हूं कि वह मुगलों को हटाकर हमारे देश के वीरों को सिलेबस में जोड़ें जिससे युवा पीढ़ी देश का सही इतिहास जान सके। 

सिद्धू मूसेवाला की तरह पंजाब के पूर्व CM चन्नी को मिली जान से मारने की धमकी, 2 करोड़ की मांगी फिरौती

'जब तक हिमंत बिस्वा सरमा जिंदा है, बाल विवाह नहीं होने देगा': असम CM

'हथियार लेकर आ रहे किसान', किसानों आंदोलन पर बोले त्रिवेंद्र सिंह रावत

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
Most Popular
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -