पिंपल्स की समस्या को दूर करते हैं लेमन आइस क्यूब्स
पिंपल्स की समस्या को दूर करते हैं लेमन आइस क्यूब्स
Share:

चेहरे पर पिंपल्स का आना एक आम पर गंभीर समस्या होती है. जिसका सामना सभी लड़के और लड़कियों को करना पड़ता है. पिंपल्स की समस्या को दूर करने के लिए लोग कई प्रकार के ब्यूटी ट्रीटमेंट का इस्तेमाल करते हैं पर कोई फायदा नहीं होता है. कभी-कभी पिंपल्स के कारण चेहरे पर दाग धब्बों की समस्या भी हो जाती है. आज हम आपको आइस क्यूब के द्वारा पिंपल्स की समस्या से छुटकारा पाने के कुछ उपायों के बारे में बताने जा रहे हैं. 

1- पिंपल्स की समस्या से छुटकारा पाने के लिए सबसे पहले अपने चेहरे को गुनगुने पानी से धोएं. जब चेहरा सूख जाए तो आइस क्यूब को साफ कपड़े में लपेटकर प्रभावी जगह पर 5 मिनट तक रखें. अब इसे हटा कर फिर से 5 मिनट के लिए रखें. जब बर्फ पूरी तरह से पिघल जाए तो अपने चेहरे को साफ पानी से धोएं. दिन में तीन चार बार इस प्रक्रिया को दोहराने से आपकी पिंपल्स की समस्या दूर हो जाएगी. 

2- नींबू का रस त्वचा में मौजूद बैक्टीरिया को खत्म करने में सहायक होता है. इसके लिए नींबू को निचोड़ कर उसका रस निकाल लें. अब इसमें दो कप पानी मिलाएं. अब इस मिश्रण को आइस ट्रे में डाल कर फ्रिज में जमने के लिए रख दें. अब इस बर्फ के टुकड़े से अपने चेहरे की मसाज करें. 5 मिनट बाद अपने चेहरे को ठंडे पानी से धोएं. आप चाहे तो इसमें शहद की दो बूंदे भी मिला सकते हैं. 

3- बेकिंग सोडा भी पिंपल्स की समस्या को दूर करने में मदद करता है. बेकिंग सोडा स्किन को एक्सफोलिएट करके त्वचा से डेड स्किन की परत को हटाता है. इसे इस्तेमाल करने के लिए बेकिंग सोडा में थोड़ा सा पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट बनाएं. अब साफ पानी से अपने चेहरे को धोकर इस पेस्ट को पिंपल्स पर लगाएं. आधे घंटे बाद अपने चेहरे को साफ पानी से धोएं. ऐसा करने से आप की पिंपल्स समस्या दूर हो जाएगी.

 

जानिए क्या है अनुष्का शर्मा की खूबसूरती का सीक्रेट

ब्यूटी से जुड़ी सभी समस्याओं को दूर करते हैं तुलसी के पत्ते

ग्लोइंग और बेदाग त्वचा पाने के लिए लगाएं बनाना होममेड क्रीम

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -