2016 में पारित होगा GST : वित्त मंत्री

2016 में पारित होगा GST : वित्त मंत्री

हांगकांग : भारत के वित्त मंत्री अरुण जेटली सिंगापुर और हांगकांग के दौरे पर गए हुए है और वे यहाँ निवेशकों से भारत में निवेश किये जाने को लेकर बात करने वाले है. साथ ही आपको यह भी बता दे कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने यहाँ सोमवार को वस्तु एवं सेवा कर (GST) व्यवस्था को लागु करने को लेकर यह भरोसा जताया है कि वे 2016 तक इसे लागु कर देंगे. इसके साथ ही जेटली ने यह भी कहा है कि कांग्रेस के द्वारा इसे देर से लागु किये जाने को लेकर कई प्रयास किये जा रहे है लेकिन इस मामले में कांग्रेस को यह भी याद रखना चाहिए कि यह लेनदेन पर लगाये जाने वाला कर है, इसे आयकर ना समझे.

साथ ही उन्होंने यह भी उम्मीद भी जताई ही कि वे अगले संसदीय सत्र में इसे पारित कर देंगे. हालाँकि जेटली ने यह भी कहा है कि यह जरुरी नहीं है कि इसे 1 अप्रैल 2016 से ही लागु किया जाये, क्योकि यह लेनदेन पर लगने वाला कर है जिसे किसी भी महीने की पहली तारीख से लागु किया जा सकता है. इसके साथ ही पिछली तिथि के प्रभाव के कारण लागु किये जाने वाले कर और न्यूनतम वैकल्पिक कर (MAT) को लेकर उन्होंने यह भी कहा है कि इसे भविष्य के लिए ख़त्म कर दिया गया है और हस्तांतरण मूल्यांकन को भी सुलझा दिया गया है.

हम काम भी कर रहे है आप ऐसा ना सोचे की हम सिर्फ बातें ही कर रहे है. चीन की अर्थव्यवस्था को देखते हुए जेटली ने यह भी कहा है कि चीन की मुद्रा में कोई भी बदलाव होता है तो इसका सीधा असर मुद्रा बाजार पर होना है. लेकिन चीन से यदि कोई निवेश भारत आता है तो उसका स्वागत किया जायेगा. साथ ही जेटली ने कहा कि महंगी पूंजी होने के कारण कई क्षेत्रो पर प्रभाव पड़ रहा है लेकिन इसके साथ ही घरेलु निजी क्षेत्र में निवेश कम होता जा रहा है.