भारतीय परमाणु कार्यक्रम के जनक डॉ जहांगीर भाभा, जिन्हे अमेरिका ने साजिश कर मार दिया

आज ही के दिन 1966 में भारतीय परमाणु कार्यक्रम के जनक होमी जहांगीर भाभा का एक प्लेन दुर्घटना में निधन हो गया था। भाभा का जन्म 30 अक्टूबर 1909 को मुंबई के एक रईस पारसी परिवार में हुआ था। भाभा न सिर्फ वैज्ञानिक थे, बल्कि बहुमुखी प्रतिभा के धनि भी थे। डॉक्टर भाभा की शख्सियत ऐसी थी कि नोबेल पुरस्कार विजेता सीवी रमन उन्हें भारत का लियोनार्दो द विंची कहते थे।

24 जनवरी 1966 को जिस विमान हादसे में उनका निधन हुआ, एयर इंडिया का यह विमान मुंबई से न्यूयॉर्क जा रहा था। मगर अमेरिका पहुंचने से पहले ही यह विमान यूरोप के आलप्स माउंटेन रेंज में हादसे का शिकार हो गया। इस दुर्घटना में होमी जहांगीर भाभा सहित 117 लोगों की मौत हो गई थी। बताया जाता है कि डॉ भाभा की मौत के पीछे अमेरिकी खुफिया एजेंसी का हाथ था। भारत के परमाणु कार्यक्रम को रोकने के लिए डॉ भाभा को मारने की साजिश रची गई थी। हादसे के 42 वर्ष बाद 2008 में विदेशी पत्रकार ग्रेगरी डगलस की एक पुस्तक कन्वर्सेशन विद द क्रो (Conversation With the Crow) में डगलस और CIA अफसर रॉबर्ट क्रॉउली के बीच बातचीत के कुछ अंश है। इसी में डगलस ने डॉ भाभा की मौत के पीछे CIA का हाथ होने का दावा किया था। किताब के अनुसार, 1965 में हुए भारत-पाकिस्तान युद्ध में भारत की जीत से अमेरिका बेचैन हो गया था। भारत की बढ़ती परमाणु शक्ति ने अमेरिका की चिंता बढ़ा दी थी। पूर्व CIA अफसर रॉबर्ट क्रॉउली ने भी डॉ भाभा के प्लेन को बम से उड़ाए जाने की बात मानी थी।

विमान दुर्घटना के तीन महीने पहले ही डॉ भाभा के एक ऐलान ने दुनिया के बड़े मुल्कों को चौंका दिया था। भाभा ने ऑल इंडिया रेडियो पर ऐलान करते हुए कहा था कि यदि उन्हें छूट मिले, तो वे 18 महीने में एटम बम बनाकर दिखा सकते हैं। भाभा हमेशा देश की सुरक्षा, ऊर्जा, कृषि और मेडिसिन के क्षेत्र में न्यूक्लियर एनर्जी के डेवलपमेंट का उल्लेख करते थे। वे देश के विकास के लिए इसे आवश्यक मानते थे। आज भी कई जानकार यह मानते हैं कि यदि प्लेन क्रैश में डॉ भाभा की मौत नहीं हुई होती, तो भारत न्यूक्लियर साइंस की फील्ड में कई उपलब्धियां काफी पहले हासिल कर चुका होता।

अब कोरोना टेस्ट के लिए प्राइवेट पार्ट से लिया जाएगा सैंपल, खास है वजह

राष्ट्रीय बालिका दिवस आज, जानिए क्या है इसका इतिहास

पिता जेल में... और बेटी को सपा ने दे दिया टिकट, इस सीट से लड़ेगी चुनाव

 

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -