'कांग्रेस-भाजपा एक जैसी.. सपा का रास्ता अलग..', क्या यूपी चुनाव अकेले लड़ेगी अखिलेश की SP ?

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव जैसे-जैसे नजदीक आ रहा है, वैसे-वैसे सियासी पारा भी बढ़ता जा रहा है. प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (प्रासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव मथुरा से सामाजिक परिवर्तन यात्रा पर निकले हैं, तो वहीं, समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव भी समाजवादी विजय रथ पर सवाल होकर रवाना हुए हैं.

विजय रथ यात्रा के दौरान एक इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी की सक्रियता से लेकर चाचा शिवपाल की रथयात्रा तक, हर पहलू पर अपनी राय रखी. जब उनसे पुछा गया कि क्या उत्तर प्रदेश में प्रियंका गांधी के सक्रीय होने से सपा का नुकसान होगा? इस सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि किसी के सक्रीय होने से सपा को कोई नुकसान नहीं होगा. उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टा (भाजपा) और कांग्रेस, दोनों में कितना फर्क है, दोनों की नीतियां एक हैं. यानी भाजपा और कांग्रेस को एक जैसा बताकर अखिलेश ने ये कहने की कोशिश की है कि प्रियंका गांधी सक्रियता से चुनाव में सपा पर कोई असर नहीं पड़ने वाला है. लेकिन इससे एक सवाल और उठता है कि क्या यूपी में सपा बिना कांग्रेस से हाथ मिलाए चुनाव लड़ेगी, क्योंकि कांग्रेस तो भाजपा जैसी है, जिसे सभी हराना चाह रहे हैं. 

चाचा शिवपाल की रथयात्रा से संबंधित सवाल पर अखिलेश यादव ने कहा कि वे (शिवपाल) भी बोलेंगे तो भाजपा के खिलाफ ही. उन्होंने कहा कि यूपी बड़ा प्रदेश है. यहां सभी सियासी दलों को काम करने की जरूरत है. हमने पहले भी बड़े दलों से गठबंधन किया, मगर परिणाम नहीं आए. नेताजी हमारे पिताजी भी हैं और हम सब के बड़े नेता भी हैं. उन्होंने हमें सियासत में रास्ता दिखाने का काम किया है.

तालिबान वित्त मंत्री ने कहा- ''तालिबान के नेतृत्व वाली सरकार अफगानिस्तान..."

यूपी चुनाव के लिए सपा ने कसी कमर, 'समाजवादी विजय रथयात्रा' लेकर निकले अखिलेश यादव

यूपी से बिहार पहुंची लखीमपुर की 'आग', हो रहा है 'मौन' प्रहार

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -