ऐसी बेरूख़ी से मिले

र वफ़ा एक जुर्म हो गया - 
दोस्त कुच्छ ऐसी बेरूख़ी से मिले
हम तो यूँ अपनी जिंदगी से मिले
अजनबी जैसे अजनबी से मिले.....

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -