गोरखनाथ मंदिर पर हमला करके सीरिया भागने वाला था मुर्तज़ा अब्बासी, आतंकी संगठन ISIS से जुड़ रहे तार
गोरखनाथ मंदिर पर हमला करके सीरिया भागने वाला था मुर्तज़ा अब्बासी, आतंकी संगठन ISIS से जुड़ रहे तार
Share:

लखनऊ: गोरखपुर के प्रसिद्ध गोरखनाथ मंदिर पर 3 अप्रैल 2022 को हमला करने वाले अहमद मुर्तजा अब्बासी के पिता मुशीर अहमद अब्बासी को ATS ने पूछताछ के लिए बुलाया है। मुशीर से एजेंसी बेटे के मानसिक हालत को लेकर किए गए उसके दावे को लेकर भी पूछताछ करेगी। ATS ने इस मामले में सहारनपुर से मुर्तजा के साथी अब्दुल रहमान को भी गुरुवार (7 अप्रैल 2022) को अरेस्ट किया है। यह बात भी पता चली है कि मुर्तजा सीरिया भागने की फिराक में था। रिपोर्ट के मुताबिक, मुर्तजा 'शूट ऐंड स्कूट' यानी मारो और भागो की नीति पर काम कर रहा था। गोरखनाथ मंदिर पर हमला करने के बाद उसका प्लान नेपाल होते हुए सीरिया या अफगानिस्तान जाने का था। वह आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) के लिए केमिकल हथियारों की खेप तैयार करना चाहता था।

 

रिपोर्ट में बताया गया है कि ISIS ने 25 मार्च को एक वीडियो जारी किया था। इसमें दिखाई दे रहे आतंकी के हाथ में भी उसी प्रकार के हथियार थे, जैसा मंदिर पर हमले के दौरान मुर्तजा ने ले रखा था। इस बीच मुर्तजा अब्बासी का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इसमें अब्बासी कह रहा है कि, 'मेरे बड़े पापा ने कहा कि थोड़ा सीरियस लग रहा है। ये पुलिस वाले हैं और ये समन दे रहे हैं। कोई केस किए हो क्या? यहाँ रहोगे कि कहीं जाओगे? फिर हम दिमाग लगाए और निकल गए घर से। हम वहाँ से नेपाल चले गए।' मुर्तजा अब्बासी ने पुलिस को बताया कि वह CAA-NRC और कर्नाटक में चल रहे हिजाब विवाद से नाराज था।

उसने पुलिस से पूछताछ में कहा कि, 'मैं जस्टिफिकेशन दे रहा था कि मुसलमानों के साथ गलत हो रहा है। मैं थक गया था सोच कर। मेरी आँखें सूज गई थीं। मैं नेपाल में सो नहीं पाया था। मुझे लगा कि यहाँ (मुसलमानों एक) कोई भविष्य ही नहीं।' बता दें कि रविवार (3 अप्रैल) को IIT से केमिकल इंजीनियर 30 साल के अहमद मुर्तजा अब्बासी ने गोरखनाथ मंदिर परिसर में PAC जवानों पर हमला कर दिया था। इस हमले में PAC के दो कॉन्स्टेबल जख्मी हो गए थे। अन्य सुरक्षाकर्मियों ने अब्बासी को पकड़कर उसके हथियार को जब्त कर लिया था। अब तक जो तथ्य सामने आए हैं उससे पता चला है कि अब्बासी के तार ISIS से जुड़े हुए थे। उसने बीते डेढ़ वर्ष में करीब 8 लाख रुपए नेपाल के बैंकों के जरिए ISIS का गढ़ कहे जाने वाले सीरिया भेजे थे। साथ ही वह इंटरनेशनल सिम का भी इस्तेमाल करता था। उसके मोबाइल और लैपटॉप में जिहादी वीडियो भी मिले हैं। इसके पहले एक बयान में अब्बासी ने कहा था कि उसे अल्लाह के लिए मरने का मन हुआ तो, उसने आकर गोरखनाथ मंदिर पर हमला कर दिया। 

 

अब आधार को राष्ट्रीय पुरस्कारों के लिए नामांकन दाखिल करने की आवश्यकता नहीं है

मंगल पांडे: देश का पहला क्रांतिकारी, जिसे फांसी देने से जल्लादों तक ने मना कर दिया था

राजस्थान का सरकारी स्कूल, नशे में धुत्त पड़े शिक्षक..., ग्रमीणों ने वीडियो बनाकर प्रशासन को सौंपा

 

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -