Share:
जोशीमठ के बाद इन शहरों में पड़ी दहशत की 'दरारें', मचा हड़कंप
जोशीमठ के बाद इन शहरों में पड़ी दहशत की 'दरारें', मचा हड़कंप

देहरादून: उत्तराखंड के जोशीमठ पर इस समय एक भारी ख़तरा मंडरा रहा है। तकरीबन 600 से अधिक घरों के लोगों को शिफ्ट कराया जा रहा है। सरकार निरंतर बचाव कार्य में जुटी है तथा लोगों को राहत देने की बात कह रही है। इसी बीच चमोली के कर्णप्रयाग में भी जोशीमठ जैसी स्थिति हैं। जोशीमठ से 75 किलोमीटर दूर कर्णप्रयाग की बहुगुणा कॉलोनी में 2 दर्जन से अधिक मकानों में दरारें आ गई हैं। बहुगुणा कॉलोनी के इन मकानों में पहली दरार लगभग एक दशक पहले दिखाई दी, मगर अब ये दरारें चौड़ी और लंबी हो गई हैं। 

कर्णप्रयाग से ही रिटायर हुए पूर्व सप्लाई अफसर 70 वर्षीय बीपी सती का 6 लोगों का परिवार है। बीपी सती ने कर्णप्रयाग के बहुगुणा नगर में कई वर्ष पहले अपना मकान बनाया था। उनके मुताबिक, लगभग 2013 से भू-धसाव और मकान में दरारें आ रही हैं। कर्णप्रयाग के अतिरिक्त लैंडोर के लोग भी डरे हुए हैं। जोशीमठ से तकरीबन 75 किलोमीटर दूर कर्णप्रयाग के बहुगुणा नगर में कम से कम 50 घरों में 2015 से दरारें आ रही हैं। स्थानीय लोग इन दरारों के लिए भूमि के आहिस्ता-आहिस्ता धंसने को जिम्मेदार मानते हैं। इसके लिए राष्ट्रीय राजमार्ग के चौड़ीकरण, निर्माण कार्यों में नियमों के उल्लंघन को भी जिम्मेदार मानते हैं। लोगों ने बताया कि पिंडार नदी के कारण होने वाला कटाव एवं बारिश के पानी को बेतरतीब ढंग से निकाला जाना इन सबका कारण वजह है।

वही गोपेश्वर में चमोली जिला मुख्यालय के कुछ हिस्से एवं केदारनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर गुप्तकाशी के पास सेमी गांव में भी ऐसी ही स्थिति है। उन्होंने प्रभावित लोगों के लिए तत्काल सहायता के साथ-साथ स्थानीय व्यक्तियों की सुरक्षा की योजना तैयार करने की मांग की। चमोली के कलेक्टर हिमांशु खुराना ने कहा कि कर्णप्रयाग में दरार वाले घरों में रहने वाले लोगों को सुरक्षित जगहों पर शिफ्ट कर दिया गया है। हम कर्णप्रयाग में परेशानी के समाधान के लिए आईआईटी-रुड़की के विशेषज्ञों की सहायता ले रहे हैं। ऋषिकेश के पास अटाली गांव में जमीन में दरारें आ गई हैं। गांव के लोगों का दावा है कि क्षेत्र में बन रही रेलवे सुरंग में दरार आने से पड़ोसी सिंगटाली, लोदसी, कौड़ियाला एवं बवानी गांव भी प्रभावित हुए हैं। एसडीएम देवेंद्र नेगी ने कहा कि विशेषज्ञों की एक टीम गठित बनाई गई है, जो 15 जनवरी को प्रभावित गांवों का निरीक्षण करेगी।

जरा सी बात पर सनकी ने घोंप दिया दो लोगों को चाकू, मचा हड़कंप

बीवी की बेरुखी से परेशान हुआ पति, उठा लिया ये खौफनाक कदम

प्यार के लिए इलमा से सौम्या बनी लड़की, लोग बोले- 'बदल रहा है देश'

रिलेटेड टॉपिक्स
- Sponsored Advert -
मध्य प्रदेश जनसम्पर्क न्यूज़ फीड  

हिंदी न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_News.xml  

इंग्लिश न्यूज़ -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_EngNews.xml

फोटो -  https://mpinfo.org/RSSFeed/RSSFeed_Photo.xml

- Sponsored Advert -