आखिर क्यों बाबा रामदेव ने महिलाओं पर की अभद्रतापूर्ण टिप्पणी...अब मांग रहे माफ़ी

महिलाओं पर अपनी टिप्पणी के 72 घंटे के उपरांत विरोध व आलोचना होने पर योग गुरु स्वामी रामदेव ने खेद व्यक्त  कर दिया है और माफी मांगी है। रामदेव ने महाराष्ट्र राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष रूपाली चाकणकर को इस आशय का एक Email भेजा है। आयोग ने शुक्रवार के पत्र लिखकर रामदेव से 72 घंटों के भीतर उनकी टिप्पणी के लिए स्पष्टीकरण भी मांग चुके थे।

मीडिया से बात करते हुए चाकणकर ने माफीनामा मिलने की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि 'हमने रामदेव बाबा को 25 नवंबर, 2022 को ठाणे में एक कार्यक्रम में उनके समस्याग्रस्त बयानों के संबंध में एक नोटिस भी भेज दिया गया था। उन्हें अपनी टिप्पणी स्पष्ट करने और माफी मांगने के लिए बोला गया था। उन्होंने आज एक प्रकटीकरण पत्र भेजा है जिसमें उन्होंने महिलाओं के विरुद्ध अपनी टिप्पणी के लिए खेद व्यक्त किया है। 'महाराष्ट्र महिला आयोग की अध्यक्ष कहा कि रामदेव ने e-Mail कर अपनी टिप्पणी के लिए खेद व्यक्त करते और माफी मांग ली है, लेकिन यह भी कहा है कि उनकी टिप्पणी को संदर्भ से बाहर समझा गया।

चाकणकर ने चेतावनी देते हुए कहा, हमें नोटिस का जवाब मिल चुका है, लेकिन अगर कोई और आपत्ति या शिकायत आती है, तो हम पूरी कार्रवाई करेंगे और बीते सप्ताह आयोजित कार्यक्रम की पूरी वीडियो रिकॉर्डिंग प्राप्त करने वाले है। गौरतलब है कि ठाणे में महिलाओं के लिए आयोजित योग प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए बाबा रामदेव बाबा ने इस बारें में बोला था 'महिलाएं साड़ी में अच्छी लगती हैं, वे सलवार सूट में भी अच्छी लगती हैं, और अगर उन्होंने कुछ न पहना हो तो और अच्छी लगती हैं।'

शिवपाल की सुरक्षा घटाए जाने से भड़की प्रसपा, भाजपा पर साधा निशाना

बाइक सवार चाचा-भतीजे को तेज रफ़्तार कार ने मारी टक्कर, दोनों की मौके पर मौत

फ्रिज में थी श्रद्धा की लाश, उसकी अंगूठी निकालकर दरिंदे आफताब ने दूसरी गर्लफ्रेंड को दे दी

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -