2 घंटे चला आफताब का नार्को टेस्ट, पॉलीग्राफ में कही थी 'जन्नत और हूरों' की बात !

नई दिल्ली: राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के श्रद्धा वॉकर हत्याकांड में आरोपी आफताब पूनावाला का नार्को टेस्ट (Narco Test) आज यानी गुरुवार (1 दिसंबर) को दिल्ली के रोहिणी स्थित आंबेडकर अस्पताल में किया गया। दिल्ली पुलिस आज सुबह आफताब को तिहाड़ जेल से अंबेडकर अस्पताल पहुंची थी। जहां 10 बजे नार्को टेस्ट की प्रक्रिया आरम्भ की गई थी। आफताब पूनावाला पर पॉलीग्राफी टेस्ट के दौरान हुए हमले को देखते हुए इस दौरान सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे।

बता दें कि, 18 मई 2022 को आफताब पूनावाला ने श्रद्धा वॉकर की हत्या कर दी थी। जिसके बाद आरोपी आफताब शव को कई टुकड़ों में काटकर फ्रिज में रख दिया और 3 हफ्ते तक शव के टुकड़ों को वो बाहर ले जाकर फेंकता रहा। जानकारी के अनुसार, गुरुवार सुबह 10 बजे शुरू हुआ नार्को टेस्ट दो घंटे में संपन्न हो गया था। सूत्रों के अनुसार, नार्को टेस्ट के दौरान आफताब की तबीयत बिल्कुल ठीक थी, जिसके बाद नार्को टेस्ट की प्रक्रिया आरम्भ की गई थी।

वहीं, पॉलीग्राफ टेस्ट में आफताब की कट्टर मानसिकता भी खुलकर सामने आ गई है। एक पुलिस अधिकारी ने जानकारी दी है कि पूछताछ के दौरान आफताब ने कहा है कि श्रद्धा के कत्ल के आरोप में उसे फांसी भी हो जाए, तो भी अफसोस नहीं, क्योंकि जन्नत में हूरें मिलेगी। साथ ही आफताब ने यह भी खुलासा किया है कि श्रद्धा से रिश्ते के दौरान 20 से अधिक हिंदू लड़कियों से उसके संबंध रहे हैं।  दरिंदे आफताब ने बताया कि, श्रद्धा की हत्या के बाद वह एक मनोविज्ञानी को अपने रूम पर लेकर आया  था, वह भी हिंदू ही थी। इस हिन्दू लड़की को उसने श्रद्धा की अंगूठी तोहफे में देकर अपना शिकार बनाया था, इसके साथ ही उसने अन्य कई हिंदू लड़कियों को भी इस तरह शिकार बनाया है। आफताब को श्रद्धा का क़त्ल  करने का कोई दुख नहीं है। उसे श्रद्धा के शव के टुकड़े कर फेंकने का जरा भी अफसोस नहीं है। 

आफताब को किसने दिया जन्नत और हूरों का ज्ञान ?

हालाँकि, आफताब के इस बयान से बड़ा सवाल ये उठता है कि, उसके ऐसे कौन से अच्छे कर्म थे, जो वह जन्नत की उम्मीद पाल रहा है ? क्या केवल हिन्दू लड़कियों को फंसाकर उनके साथ संबंध बनाने मात्र से ही उसे जन्नत मिल सकती थी ? ये ज्ञान उसे किसने दिया होगा कि, हिन्दू लड़कियों को फंसाकर उनकी भावनाओं और जिस्मों के साथ खेलकर, यहाँ तक कि, उनकी हत्या भी करने के बाद उसे जन्नत यानी स्वर्ग मिल सकता है और वहां बैठा परमेश्वर उसे भोगने के लिए हूरें देगा ?  क्योंकि, इस तरह की बातें हमने आज तक जैश, या लश्कर जैसे आतंकी संगठनों के खूंखार आतंकियों से ही सुनी हैं, जो जन्नत और हूरों के लिए निर्दोषों के बीच छाती पर बम बाँधकर फट जाते हैं। 

कोर्ट से जज और महिला स्टेनोग्राफर का आपत्तिजनक Video हुआ वायरल, दिल्ली HC ने लिया संज्ञान

कश्मीर में खून जमा देने वाली ठंड, उत्तर भारत में भी कांप रहे लोग.., जानें अपने राज्य का हाल

राजस्थान में भाजपा का जन आक्रोश अभियान, नड्डा ने गहलोत सरकार पर साधा निशाना

न्यूज ट्रैक वीडियो

- Sponsored Advert -

Most Popular

- Sponsored Advert -