ब्लैक मनी लाने और धोखाधड़ी रोकने में कारगर है आधार

ब्लैक मनी लाने और धोखाधड़ी रोकने में कारगर है आधार

नई दिल्ली : देश में आधार कार्ड के उपयोग को लेकर सुप्रीम कोर्ट 6 अक्टूबर को सुनवाई करने वाला है. इस दौरान आपको यह भी बता दे कि आधा कार्ड को लेकर सुप्रीम कोर्ट सेबी और रिज़र्व बैंक की याचिकाओं पर सुनवाई करने वाला है. आपको साथ ही यह भी जानकारी दे दे कि RBI और SEBI ने अपनी याचिका में यह कहा था कि देश में आधार कार्ड को एक पहचान पत्र के रूप में उपयोग किया जाये, साथ ही इसकी जानकारी में दोनों संस्थाओं ने यह भी कहा था कि यदि देश में इसका उपयोग बढ़ा दिया जाता है तो इससे ब्‍लैक मनी, मनी लॉड्रिंग के साथ ही पैसों की धोखाधड़ी जैसे मामलों में भी कमी आना है और इस कारण ही कोर्ट के द्वारा आधार कार्ड को एक विकल्प के रूप में उपयोग किये जाने को लेकर इजाजत दे देनी चाहिए.

SEBI और RBI का कहना है कि आधार कार्ड की प्रमाणिकता अन्य कई कार्डो की तुलना में अधिक है और इस कारण यह अनुमान है कि इससे ब्लैक मनी को रोक जा सकता है और साथ ही मनी लॉन्ड्रिंग के साथ ही धोखाधड़ी को भी रोकने में मदद मिल सकती है. यदि आधार कार्ड के उपयोग को हामी दे दी जाती है तो इससे वित्तीय जाँच संबंधी मामलों में भी सहयोग मिल जायेगा. इसके तहत यह बात भी सामने आई थी कि कोर्ट के द्वारा सरकार को यह कहा गया था कि आधार कार्ड के उपयोग को बाध्यकारी नहीं बनाया जा सकता है.