राज्य द्वारा संचालित स्वास्थ्य साथी कार्ड को करें स्वीकार, अन्यथा अस्पतालों का लाइसेंस किया जाएगा रद्द: ममता बनर्जी

राज्य द्वारा संचालित स्वास्थ्य साथी कार्ड को करें स्वीकार, अन्यथा अस्पतालों का लाइसेंस किया जाएगा रद्द: ममता बनर्जी

कोलकाता: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि राज्य के सभी निजी अस्पताल और नर्सिंग होम स्वास्थ्य साथी कार्ड वाले मरीजों को स्वीकार करेंगे और इससे इनकार करने से स्वास्थ्य प्रतिष्ठानों का लाइसेंस रद्द हो सकता है। नादिया में बोलते हुए उन्होंने कहा कि अगर किसी को मना किया जाता है या परेशान किया जाता है तो पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई जानी चाहिए। किसी को भी लोगों को परेशान नहीं करना चाहिए। ममता ने कहा, हम बाकी का ध्यान रखेंगे।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य साथी किसी व्यक्ति के लिए नहीं, बल्कि पूरे परिवार के लिए हैं। पूरे परिवार को सुविधा मिलेगी। केंद्र का कहना है कि वे आयुष्मान भारत योजना शुरू करेंगे। वही एक तरफ वे लोगों को मार रहे हैं और दूसरी तरफ वे दावा कर रहे हैं कि वे जान बचा लेंगे। क्या किसी को पता है कि वे पंजाब और हरियाणा में क्या कर रहे हैं? 

उन्होंने कहा कि आयुष्मान भारत के लिए जहां केंद्र सरकार प्रीमियम का 60% देगी और राज्य को बाकी का वहन करना होगा, वहीं स्वास्थ्य साथी के लिए राज्य सरकार पूरा खर्च वहन करेगी। मैंने एक स्वास्थ्य साथी कार्ड भी ले लिया है। उन्होंने कहा, आपको और आपके परिवार को प्रति वर्ष 5 लाख रुपये की चिकित्सा सुविधाएं मिलेंगी।

राष्ट्रीय युवा संसद को पीएम मोदी ने किया सम्बोधित, स्वामी विवेकानंद को लेकर कही ये बात

सुब्रत साहू बने छत्तीसगढ़ प्रभारी

'2021 में बिहार में सरकार बना लेंगे...' नितीश के बयान के बाद तेजप्रताप ने किया दावा