पुलिस जवानो से मारपीट के मामले में विवाद गरमाया

Feb 24 2016 10:16 AM
पुलिस जवानो से मारपीट के मामले में विवाद गरमाया

मुंबई। शिवाजी जयंती पर मराठवाड़ा में लातूर जिले के पानगांव में 2 पुलिस जवानो के साथ हुई मारपीट के विवाद की चिंगारी आग पकड़ने लगी है. समाजवादी पार्टी विधायक अबू आसिम आजमी ने मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखकर आरोपियों पर मकोका लगाने और उनका संगठन प्रतिबंधित करने की मांग की है. वहीं, MIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी के ट्वीट के बाद औरंगाबाद-मध्य सीट से विधायक सैयद इम्तियाज जलील ने घटना के विरोध में लातूर में मोर्चा निकाला. घटना के विरोध में सपा और एमआईएम के विधायक जोर-शोर से मैदान में उतर आये है. लातूर में असिस्‍टेंट सब इंस्‍पेक्‍टर यूनुस शेख को भीड़ ने पीटा और दक्षिणपंथी संगठन ने भगवा झंडा लेकर चलने पर मजबूर किया.

इस मामले में पुलिस ने युवकों के ग्रुप द्वारा निकाली गई फोटो के आधार पर सोमवार को 17 लोगों को गिरफ्तार किया है. बता दे की 19 फरवरी की रात बड़ी संख्या में युवक यहां छत्रपति शिवाजी की जयंती पर भगवा ध्वज फहराने आए तो पुलिसकर्मियों ने सभी को लौटा दिया था. इसके बाद इसके दूसरे दिन चौक पर बड़ी संख्या में लोग दोबारा जमा हुए और नारेबाजी के साथ झंडा फहराने लगे.

पुलिसकर्मी यूनुस शेख और हेड कॉन्‍सटेबल आवसकर ने लोगो को रोका तो भीड़ भड़क उठी और दोनों पुलिस जवानो पर हमला कर दिया. कुछ युवकों ने पथराव कर दिया था. यूनुस के परिजनों ने घटना की विभागीय जांच कराने की मांग की है. परिजनों का आरोप है कि रेनापुर पुलिस थाने से पुलिसबल समय रहे घटनास्थल पर पानगांव क्यों नहीं पहुंचा.