आग लगी थी

आग लगी थी

ग लगी थी 
मेरे घर को. . .
किसी सच्चे दोस्त ने पूछा :-
"क्या बचा है. . ? ?"
मैने कहा :-
"मैं बच गया हूँ. . ! !"
उसने गले लगाकर कहा :-
"फिर जला ही क्या है